आसमा जहांगीर को मिल रही हैं धमकियाँ

आसमा जहाँगीर
Image caption आसमा जहाँगीर को पाकिस्तान में मानवाधिकार की लड़ाई लड़ने वाली कार्यकर्ता के रुप में दुनिया भर में जाना जाता है

पाकिस्तानी सिविल सोसाइटी की वरिष्ठ शख़्सियतों ने सामाजिक कार्यकर्ता आसमा जहाँगीर को लगातार मिल रही धमकियों पर चिंता व्यक्त की है.

पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग ने एक बयान जारी किया है, जिसमें चेतावनी दी गई है कि अगर आसमा जहाँगीर की ज़िंदगी को कोई नुकसान पहुँचा तो उसके गंभीर परिणाम निकल सकते हैं.

इस बयान पर वरिष्ठ सेवानिवृत्त न्यायधीश, सैन्य अधिकारियों, पत्रकारों, लेखकों, वकीलों और वरिष्ठ राजनेताओं के हस्ताक्षर हैं.

धमकियाँ

बयान में बताया गया है कि विश्वसनीय सूत्रों ने पता चला है कि आसमा जहाँगीर की ज़िंदगी को ख़तरा है और उन्हें लगातार जान से मारने की धमकियाँ मिल रही हैं.

बयान में यह नहीं बताया गया है कि उनको किस से ख़तरा है और धमकियाँ कौन दे रहा है लेकिन यह ज़रुर बताया गया है कि उनको धमकियाँ ऐसे समय में मिल रही हैं जबकि पाकिस्तान में सरेआम लोगों को मारा जा रहा है.

मानवाधिकार आयोग ने ऐसी हत्याओं के लिए पाकिस्तान की ख़ुफिया एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराया है.

वरिष्ठ सेवानिवृत्त न्यायाधीश सैन्य अधिकारियों, पत्रकारों, लेखकों, वकीलों और वरिष्ठ राजनेताओं के हस्ताक्षर किए बयान में कहा गया है, "हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं, ख़ास तौर पर खुफिया एजेंसियों को कि वह आसमा जहाँगीर को किसी नुकसान से नतीजों को कम न समझें."

बयान में सख़्ती से कहा गया है कि उनको धमकियाँ किसी व्यक्ति नहीं बल्कि पाकिस्तान के भविष्य और लोकतंत्र के ख़िलाफ साज़िश है और इसको गंभीरता लिया जाना चाहिए.

संबंधित समाचार