पाकिस्तान: अदालत ने महिलाओं की 'हत्या' की जानकारी मांगी

पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सुप्रीम कोर्ट ने शादी समारोह में पाँच महिलाओं को हत्या करने के मामले पर जानकारी मांगी है.

पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत में शादी समारोह में नाच के दौरान तालियाँ बजाने पर पाँच महिलाओं को कथित तौर पर कत्ल करने के मामले पर संज्ञान लिया है.

यह घटना कुछ दिन पहले खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत के ज़िले कोहिस्तान में घटी थी.

अदालत ने इस संबंध में खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत के महासचिव और कोहिस्तान के जिला अधिकारी सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों को अदालत में पेश होने का आदेश दिया है.

मुख्य न्यायधीश जस्टिस इफ्तिखार मोहम्मद चौधरी ने अटर्नी जनरल इरफान कादिर को आदेश दिया कि वह इस घटना की विस्तृत जानकारी हासिल करके तुरंत अदालत में पेश करे.

तालियां बजाने पर सजा

ग़ौरतलब है कि कुछ दिन पहले जिला कोहिस्तान में हुई एक शादी के समारोह की एक वीडियो सामने आई थी, जिसमें दो लड़कों को नाचते दिखाया गया था जबकि पाँच महिलाएँ तालियाँ बजा रही थी.

स्थानीय पंचायत ने इस वीडियो के सामने आने के बाद दो लड़को और पाँच महिलाओं को मौत की सज़ा सुनाई थी.

उस सज़ा के बाद खबरें आई थी कि स्थानीय पंचायत के फैसले के बाद उन पाँच महिलाओं की हत्या कर दी गई थी, लेकिन स्थानीय प्रशासन और प्रांतीय सरकार ने ऐसी किसी भी घटना से इनकार कर दिया है.

मुख्य न्यायधीश जस्टिस इफ्तिखार मोहम्मद चौधरी ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए उसे मानवाधिकार का उल्लंघन करार दिया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पाकिस्तान का खैबर पख्तूनाख्वाह प्रांत काफी रुढ़िवादी समाज है और महिलाओं को घर में ही रखा जाता है.

पंचायत असंवैधानिक

अदालत ने कहा कि महिलाओं की हत्या किए जाने की पूरी जानकारी अदालत के पास नहीं है इसलिए तुरंत जानकारी पेश की जाए.

उन्होंने आदेश दिया कि अगर वह महिलाएँ ज़िंदा है तो फिर उन्हें अगली सुनवाई में अदालत में पेश किया जाए.

जस्टिस इफ्तिखार मोहम्मद चौधरी ने कहा कि अदालत पहले ही पंचायत के फैसले को असंवैधानिक करार दे चुकी है और अगर किसी पंचायत ने ऐसा फैसला दिया है तो वह असंवैधानिक है.

कोहिस्तान की स्थानीय पुलिस का कहना है कि जिस जगह यह घटना घटी है वह पहाड़ी इलाका है और पैदल जाने में दो दिन लग जाते हैं.

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जो पुलिसकर्मी जाँच के लिए गया था वह अभी तक वापस नहीं आया है.

संबंधित समाचार