खबरों से नाराज तालिबान का चैनल पर हमला

  • 26 जून 2012
 तालेबान इमेज कॉपीरइट BBC NEWS
Image caption पाकिस्तान में पत्रकारों पर हमले बढ़ते जा रहे हैं

पाकिस्तान के कराची में एक निजी टेलीविजन चैनल 'आज न्यूज़' के केंद्रीय कार्यालय पर अज्ञात बंदूकधारियों की गोलीबारी में दो लोग घायल हो गए हैं.

प्रतिबंधित तालिबान पाकिस्तान के प्रवक्ता एहसान अल्लाह एहसान ने समाचार पर हमले की जिम्मेदारी ली है.

किसी निजी टीवी चैनल पर तालिबान के हमले का यह पहला प्रकरण है.

खबरों से तालेबान 'नाराज'

तालिबान के प्रवक्ता ने बीबीसी संवाददाता दलावर खान मंत्री को अज्ञात स्थान से टेलीफोन कर हमले की ज़िम्मेदारी स्वीकार करते हुए कहा कि आज समाचार तालिबान विरोधी टिप्पणी कर रहा था और उनका पक्ष सही ढंग से पेश नहीं कर रहा था.

प्रवक्ता के अनुसार कुछ दिन पहले राज्य खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत के जिला दीर में सुरक्षाबलों पर हमले के बाद आज समाचार ने तालिबान के खिलाफ प्रचार किया था.

दूसरी ओर आज न्यूज के अनुसार मोटर साइकिल पर सवार अज्ञात लोगों की कराची स्थित उनके केंद्रीय कार्यालय पर गोलीबारी के कारण एक सुरक्षा गार्ड और आज समाचार एक कर्मचारी घायल हो गया है.

आज न्यूज का कहना है कि शुरुआती जांच के मुताबिक हमलावरों की संख्या चार थी और वे फायरिंग के बाद फरार होने में सफल हो गए.

आज न्यूज के अनुसार गोलीबारी के कारण कार्यालय के बाहर खड़ी गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है.

अहम समय

आज न्यूज के हिसाब से फायरिंग यह घटना ऐसे समय हुई जब शहर नेता प्रधानमंत्री राजा परवेज़ अशरफ़ की मौजूदगी के कारण सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे.

प्रधानमंत्री के सलाहकार रहमान मलिक ने आज टीवी कार्यालय पर हमले के चलते पुलिस प्रमुख से घटना रिपोर्ट तलब कर ली है.

इसके अलावा देश के विभिन्न पत्रकारिता संगठनों ने गोलीबारी की घटना की तीव्र शब्दों में निंदा की है.

समाचार संगठनों का कहना है कि पाकिस्तान को पत्रकारों के लिए खतरनाक जगह माना जाता है और यहां पर पत्रकारों पर हमले के कई घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन बहुत कम ही ऐसा हुआ कि इन हमलों में शामिल लोगों का पता चल सका हो.

इससे पहले इस साल जनवरी में राज्य खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत के जिला चारसद्दा में गोलीबारी के कारण महमंद एजेंसी के एक स्थानीय पत्रकार सल्लल्लाह खान मारे गए थे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए