क्या आसान होगी भारत-पाक में वीज़ा की राह

 शनिवार, 8 सितंबर, 2012 को 08:54 IST तक के समाचार

भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री आज पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में मुलाकात करेंगे.

उम्मीद जताई जा रही है कि दोनों देशों के बीच मौजूदा वीज़ा प्रणाली को सरल बनाने के लिए समझौते पर हत्साक्षर किए जाएंगे.

साथ ही चरमपंथ और कश्मीर के मुद्दे पर भी बातचीत होने की संभावना है. हालांकि बीबीसी संवाददाताओं के मुताबिक, इन दोनों मुद्दों पर कुछ ठोस होने की संभावना नहीं है.

अपनी यात्रा से पहले भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने कहा था कि पाकिस्तान को चरमपंथ से जुड़ी भारत की चिंताओं को दूर करने के लिए और प्रयास करने होंगे.

वर्ष 2008 में मुंबई में सिलसिलेवार हमलों में 160 से ज़्यादा लोगों के मारे जाने के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंधों में बहुत तनाव आ गया था.

भारत तबसे पाकिस्तान पर इन हमलों के गुनहगारों को पकड़ने और उनको सज़ा दिए जाने का दबाव बनाता रहा है.

कैसे बढ़ेगा विश्वास

भारत का कहना है कि उसने मुंबई हमलों से जुड़ी पर्याप्त जानकारी पाकिस्तान को मुहैया करवाई है और इसके बिनाह पर कम से कम सात लोगों को कसूरवार ठहराया जा सकता है. इन लोगों पर अभी सिर्फ आरोप लगे हैं.

वहीं पाकिस्तान का दावा है कि भारत की ओर से दी गई जानकारी नाकाफी है.

हाल ही में तेहरान में हुए गुटनिरपेक्ष सम्मेलन के दौरान भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी से मुलाकात की थी.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि अगर मुंबई हमलों की जांच में पाकिस्तान तेज़ी दिखाता है तो ये दोनों देशों के बीच विश्वास बढ़ाने का काम करेगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.