ज़रदारी की जाँच के लिए पाक सरकार राज़ी

 मंगलवार, 18 सितंबर, 2012 को 12:50 IST तक के समाचार
राजा परवेज अशरफ

सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए अशरफ.

पाकिस्तान सरकार राष्ट्रपति आसिफ जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दोबारा खोलने के लिए स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने को राजी हो गई है.

प्रधानमंत्री राजा परवेज अशरफ ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अदालती अवमानना से जुड़े मामले में सुनवाई के दौरान कहा कि उन्होंने स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने के लिए कानून मंत्रालय को अधिकार दे दिया है.

पाकिस्तान सरकार इस मामले में लंबे समय से स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने से इनकार करती रही है.

इसी मामले में अयोग्य ठहराए जाने के बाद यूसुफ रजा गिलानी को प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा था. उनके बाद पद संभालने वाले अशरफ पर भी स्विस अधिकारियों को पत्र लिखने के लिए अदालत की ओर से खासा दबाव है.

25 तक की मोहलत

मंगलवार को जस्टिस आसिफ सैयद खोसा के नेतृत्व वाली पांच जजों की खंडपीठ ने अदालती अवमानना से जुड़े मामले की सुनावाई की.

बीबीसी संवाददाता शहजाद मलिक का कहना है कि सुनवाई के दौरान जस्टिस खोसा ने कहा कि स्विस अधिकारियों को लिखे जाने वाले पत्र पर अदालत की संतुष्टि होनी जरूरी है.

उन्होंने कहा कि पत्र लिखे जाने से पहले उसका मसौदा अदालत को दिखाया जाए ताकि उसमें अगर किसी बदलाव की जरूरत हो तो वो किया जा सके.

अदालत ने पत्र का मसौदा तैयार करने के लिए प्रधानमंत्री को 25 सितंबर तक का समय दिया है. उसी दिन इस मामले की अगली सुनवाई होगी, जिसके लिए प्रधानमंत्री का आना जरूरी नहीं होगा.

पाकिस्तान के कानून मंत्री ने पत्र का मसौदा तैयार करने के लिए अदालत से 28 सितंबर तक का समय मांगा था. लेकिन अदालत ने 25 सितंबर तक की ही मोहलत दी है और कहा कि इस मामले में ज्यादा देर करने से शक और संदेहों को बढ़ावा मिलेगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.