BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
सोमवार, 27 सितंबर, 2004 को 03:11 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
ताजमहल के 350 साल पर समारोह
 
ताजमहल
ताज को करोड़ों लोग प्रेम का प्रतीक मानते हैं
दुनिया भर में प्रेम का प्रतीक माने जाने वाले, आगरा के ताजमहल को बने 350 साल हो गए हैं.

मुग़ल सम्राट शाहजहाँ ने इस मक़बरे को अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में बनवाया था.

इसका निर्माण 1631 में शुरू हुआ और बीस हज़ार लोगों की मेहनत से यह 1653 में बन कर तैयार हुआ था.

आज भी रोज़ाना हज़ारों पर्यटक और प्रेमी, देश विदेश से प्रेम और समर्पण के इस प्रतीक को देखने के लिए आते हैं.

ताजमहल के साढ़े तीन सौ साल पूरे होने पर आगरा में समारोहों का सिलसिला शुरू हो रहा है.

लेकिन प्रदूषण और दूसरे ख़तरों से इस नायाब इमारत को बचाए रखने के लिए समारोह ताजमहल से कुछ दूरी पर हो रहे हैं.

ताज महल
चाँदनी रात में ताज की छटा देखते ही बनती है

इस अवसर पर कबूतरों को आसमान में छोड़ा जाएगा और फिर पतंगबाज़ी की प्रतियोगिता होगी.

विश्व पर्यटन दिवस के मौके पर सोमवार को ही वहाँ शाम को संगीत समारोह का आयोजन किया जाएगा.

इसके दौरान संभावना है कि पाकिस्तान के मशहूर ग़ज़ल गायक गुलाम अली और संतूरवादक पंडित शिवकुमार शर्मा अपनी कला का जादू दिखाएँगे.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
 
 
इंटरनेट लिंक्स
 
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
 
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>