BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
शनिवार, 12 नवंबर, 2005 को 18:54 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
वरिष्ठ समाजवादी नेता मधु दंडवते नहीं रहे
 
मधु दंडवते
मधु दंडवते ने स्वतंत्रता संग्राम में भी हिस्सा लिया था
पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ समाजवादी नेता मधु दंडवते का लंबी बीमारी के बाद मुंबई के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया है.

मधु दंडवते 81 वर्ष के थे. उनके परिवारजनों के मुताबिक़ उन्हें 19 अक्तूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मधु दंडवते ने शनिवार शाम आठ बजे अंतिम सांस ली.

अपनी शालीनता और विद्वता के कारण चर्चित मधु दंडवते ने वीपी सिंह की राष्ट्रीय मोर्चे की सरकार में वित्त मंत्री के रूप में काम किया.

इससे पहले वे जनता पार्टी की सरकार में रेल मंत्री भी रहे. कोंकण रेलवे को वास्तविकता में बदलने के पीछे उनकी भी महत्वपूर्ण भूमिका मानी जाती है.

मधु दंडवते कोंकण क्षेत्र के राजापुर क्षेत्र से पाँच बार लोकसभा का चुनाव जीते थे. उनकी पत्नी और पूर्व सांसद प्रमिला दंडवते का वर्ष 2002 में ही निधन हो गया था.

मधु दंडवते का जन्म 21 जनवरी 1924 को महाराष्ट्र के अहमदनगर में हुआ था. दंडवते ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में भी हिस्सा लिया.

संवेदना

आज़ादी के बाद मधु दंडवते मुंबई के सिद्धार्थ कॉलेज में न्यूक्लियर फिजिक्स के लेक्चरर बन गए. 1970 में मधु दंडवते ने राजनीति में प्रवेश किया औऱ पश्चिमी महाराष्ट्र से विधान परिषद के सदस्य चुने गए.

  वे एक आदर्श पुरुष थे, जिन्होंने आदर्शों पर ही अपना जीवन निर्वाह किया. वे एक योग्य सांसद थे और उन्होंने आम जनता के लिए जीवनभर काम किया
 
विश्वनाथ प्रताप सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री

1971 में वे पहली बार राजापुर से लोकसभा का चुनाव जीते. 1977 से 1979 तक वे जनता पार्टी सरकार में रेल मंत्री रहे.

पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने मधु दंडवते के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि वे एक आदर्श पुरुष थे, जिन्होंने आदर्शों पर ही अपना जीवन निर्वाह किया.

पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह ने कहा कि वे एक योग्य सांसद थे और उन्होंने आम जनता के लिए जीवनभर काम किया.

वरिष्ठ समाजवादी नेता और मधु दंडवते के क़रीबी सहयोगी सुरेंद्र मोहन ने इसे अपनी व्यक्तिगत क्षति बताया. उन्होंने कहा, "हमलोगों ने अपने सबसे ईमानदार, सबसे प्रतिबद्ध और ऊँचे चरित्र वाले साथी को खो दिया है."

सुरेंद्र मोहन ने कहा कि मधु दंडवते शानदार सांसद थे और उन्होंने लोकतंत्र और समाजवाद की सेवा के लिए बहुत काम किया.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
रफ़ीक़ ज़कारिया का निधन
09 जुलाई, 2005 | भारत और पड़ोस
एच डी शौरी का निधन
28 जून, 2005 | भारत और पड़ोस
गोपाल प्रसाद व्यास का निधन
28 मई, 2005 | भारत और पड़ोस
सुनील दत्त का निधन
25 मई, 2005 | भारत और पड़ोस
साहित्यकार मुल्कराज आनंद नहीं रहे
28 सितंबर, 2004 | भारत और पड़ोस
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>