BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
भारत और पाकिस्तान में व्यापक निंदा
 
पाकिस्तान के विदेश मंत्री कसूरी
पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख़ुर्शीद महमूद कसूरी ने इसे 'आतंकवादी' घटना बताया
समझौता एक्सप्रेस रेलगाड़ी में रविवार देर रात पानीपत के पास हुए विस्फोट पर जहाँ भारत ने चिंता जताई है और साज़िश की बात की है, वहीं पाकिस्तान ने इसे 'आतंकवादी' कार्रवाई बताते हुए कहा है कि भारत इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों को सज़ा दिलाए.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख़ुर्शीद महमूद कसूरी ने इस 'आतंकवाद की वीभत्स' घटना बताया.

भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, गृह राज्यमंत्री और रेल मंत्री ने इस घटना में मारे गए लोगों के रिश्तेदारों के प्रति संवेदना प्रकट की है और चिंता जताई है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया और चिंता जताई है.

मनमोहन असम के दौरे पर हैं और उन्होंने वहाँ से जारी बयान में कहा है,'' इस आतंकवादी घटना के ज़िम्मेदार लोगों को पकड़ा जाएगा और उन्हें सज़ा दिलाई जाएगी.''

गृह मंत्री शिवराज पाटिल ने घटनास्थल पर पहुँच कर कहा, " जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है वह अमन और शांति के ख़िलाफ़ और भारत की पड़ोसी देशों से बढ़ती दोस्ती में बाधाएँ पैदा करना चाहता है."

 इस आतंकवादी घटना के ज़िम्मेदार लोगों को पकड़ा जाएगा और उन्हें सज़ा दिलाई जाएगी
 
भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह

उधर पाकिस्तान की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तसनीम असलम ने इसे एक 'आतंकवादी' घटना बताया.

तसनीम असलम का कहना था, "हम चाहते हैं कि भारत इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों को सज़ा दे.पाकिस्तान के उच्चायोग से प्रतिनिधि पाकिस्तानी नागरिकों को राहत पहुँचाने के मकसद से रवाना हो गए हैं.''

उन्होंने समाचार एजेंसियों से बातचीत में कहा कि ये भारत सरकार की ज़िम्मेदारी है कि इस ट्रेन को भारत के भीतर पूरी सुरक्षा प्रदान की जाए.

रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने बीबीसी को बताया, " इस घटना के पीछे तोड़फोड़ की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता और घटनास्थल पर ज्वलनशील पदार्थ मिले हैं. पूरी जाँच होने पर ही मामला स्पष्ट होगा."

 हम चाहते हैं कि भारत इसके लिए ज़िम्मेदार लोगों को सज़ा दे. पाकिस्तान के उच्चायोग से प्रतिनिधि पाकिस्तानी नागरिकों को राहत पहुँचाने के मकसद से रवाना हो गए हैं
 
पाकिस्तान की प्रवक्ता

उधर भारत के गृह राज्यमंत्री श्रीप्रकाश जयसवाल ने पत्रकारों से कहा, " संभव है कि इसकी पूरी योजना दिल्ली में ही रची गई हो लेकिन ये जाँच का विषय है. जब-जब भारत-पकिस्तान की शांति प्रक्रिया आगे बढ़ी है तो आतंक पैदा करने और शांति प्रक्रिया को बाधित करने की कोशिश की गई है. ऐसा प्रतीत होता है कि ये किसी साज़िश के तहत हुआ है."

भारत के राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने चिंता जताते हुए मृतकों के रिश्तेदारों के प्रति संवेदना प्रकट की है और उम्मीद जताई है कि जो लोग इसमें घायल हुए वे जल्दी ही ठीक हो जाएँगे.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
'शुरू में समझ नहीं आया कि हुआ क्या'
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
धमाकों के बाद सुरक्षा व्यवस्था कड़ी
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
' दो देशों की दोस्ती तोड़ने का प्रयास'
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
समझौता एक्सप्रेस का सफ़र
18 दिसंबर, 2003 | भारत और पड़ोस
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>