BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
गुरुवार, 22 फ़रवरी, 2007 को 03:43 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
पानीपत में 37 शवों की शिनाख़्त
 
यात्री
समझौता एक्सप्रेस के सुरक्षित पाकिस्तान पहुँचे यात्री
समझौता एक्सप्रेस में विस्फोट के सिलसिले में पुलिस ने अब तक एक महिला समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया है. उधर पानीपत में 37 शवों की पहचान हो गई है जिसमें से 30 पाकिस्तानी नागरिकों के शव हैं.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नवतेज़ सरना ने बताया कि पाकिस्तानी वायु सेना का विमान दिल्ली में मेडिकल टीम के साथ है जो घायल पाकिस्तानी नागरिकों को वापस ले जाएगा.

उधर पानीपत से ख़बर मिली है कि अमृतसर से दादर (मुंबई) जाने वाली दादर एक्सप्रेस को लगभग 45 मिनट तक पानीपत रेलवे स्टेशन पर रोक कर रखा गया और यात्रियों को उतारकर पूरी रेलगाड़ी की तलाशी ली गई.

पानीपत के पुलिस प्रमुख एमएस शेयोरान ने बीबीसी को बताया कि पुलिस ने विशेष जानकारी के आधार पर ऐसा किया लेकिन रेलगाड़ी में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला है और किसी भी समय उसे दादर के लिए रवाना कर दिया जाएगा.

हरियाणा में करनाल में भी सिविल अस्पताल में बम होने की जानकारी पुलिस तक पहुँची और अस्पताल के एक हिस्से को खाली करवा लिया गया लेकिन वहाँ भी कुछ आपत्तिजनक नहीं मिला है.

जाँच आगे बढ़ी

रविवार को देर रात समझौता एक्सप्रेस में विस्फ़ोट की जाँच में अब प्रगति हो रही है.

बुधवार की रात तीन लोगों को राजस्थान के बीकानेर से हिरासत में लिया गया है जिनमें से एक महिला शामिल है.

राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने बीबीसी से इस बात की पुष्टि की कि समझौता एक्सप्रेस के विस्फोट के सिलसिले में बीकानेर से तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है.

कटारिया के अनुसार हरियाणा पुलिस को ख़बर दे दी गई है और आगे की जाँच में उसकी मदद ली जाएगी.

उन्होंने बताया कि पकड़े गए लोग एक ही परिवार से हैं और इनमें से एक व्यक्ति रेलवे कर्मचारी है और पुलिस को संदेह है कि उसका विस्फोट में हाथ हो सकता है. इन लोगों से गहन पूछताछ जारी है.

इसके पहले बुधवार को समझौता एक्सप्रेस यात्रियों को लेकर कड़ी सुरक्षा के बीच नई दिल्ली से रवाना हुई.

स्केच
पुलिस ने दो संदिग्ध लोगों के स्केच जारी किए थे

ग़ौरतलब है कि रविवार को समझौता एक्सप्रेस में विस्फोट हुआ था जिसमें 68 लोग मारे गए थे.

इस घटना के बाद रवाना हुई समझौता एक्सप्रेस में बुधवार रात को भी पाकिस्तान जाने वाले यात्री खचाखच भरे थे.

कड़ी सुरक्षा

सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. यात्रियों और उनके सामान की कड़ी जांच की जा रही थी.

सुरक्षा कारणों से इस ट्रेन में डिब्बों की संख्या 14 से घटाकर 10 कर दी गई और अनारक्षित श्रेणी का कोई भी डिब्बा नहीं लगाया गया था.

इस रेलगाड़ी की रवानगी के समय ख़ुद रेलमंत्री लालू प्रसाद स्टेशन पर मौजूद थे.

उन्होंने सुरक्षा स्थिति का जायज़ा लिया. आमतौर पर अपने निर्धारित समय रात दस बजकर पचास मिनट पर रवाना होने वाली यह ट्रेन एक घंटा चालीस मिनट की देरी से रवाना हुई.

दूसरी ओर विस्फोट के बाद अब भी सबसे बड़ी समस्यों मृतकों की शिनाख्त की बनी हुई है. समझौता एक्सप्रेस में मारे गए अपने रिश्तेदारों की शिनाख़्त के लिए पाकिस्तान से लोग आए हैं.

नौ रिश्तेदारों का पहला जत्था बुधवार सुबह पहुँचा और इन लोगों ने लाशों को पहचानने की हरसंभव कोशिश की. कुछ लाशें पहचानी गईं, कई की पहचान बाकी है.

उल्लेखनीय है कि अभी तक केवल 18 मृतकों की शिनाख़्त हो पाई है. दिल्ली से अटारी जा रही समझौता एक्सप्रेस में हुए विस्फोट में 68 लोगों की मौत हो गई थी.

 
 
मनमोहन सिंहहमले की भर्त्सना
ट्रेन में विस्फ़ोट पर नेताओं की प्रतिक्रियाएं
 
 
घटनास्थल की तस्वीरें
दिल्ली-अटारी समझौता एक्सप्रेस में विस्फोट.
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
दो संदिग्ध अभियुक्तों के 'स्केच' जारी
20 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
मारता है आदमी और मर रहा है आदमी
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
'शुरू में समझ नहीं आया कि हुआ क्या'
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
परिजनों की तलाश में भटकते लोग
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
भाग्यशाली रहे क़मरुद्दीन की आपबीती
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
मारने वाले से बचाने वाला बड़ा
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
रिश्तों पर असर नहीं, क़सूरी आज आएँगे
19 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>