BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
गुरुवार, 22 मार्च, 2007 को 09:05 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
निठारी मामले में आरोप पत्र दाखिल
 
पंधेर-कोली
दिसंबर में निठारी से नरकंकाल मिलने के बाद सनसनी फैल गई थी
केंद्रीय जाँच एजेंसी यानी सीबीआई ने निठारी कांड से संबंधित हत्या के एक मामले में मोनिंदर सिंह पंधेर, उनके नौकर सुरेंद्र कोली और एक महिला पुलिसकर्मी को अभियुक्त बनाया है.

निठारी कांड की जाँच कर रही सीबीआई ने गुरुवार को ग़ाज़ियाबाद की एक अदालत में तीनों के ख़िलाफ़ आरोप पत्र दाखिल किया.

सीबीआई के संयुक्त निदेशक अरूण कुमार ने पत्रकारों को बताया कि पंधेर पर भारतीय दंड संहिता के तहत आपराधिक साजिश रचने, अपने घर में 'कॉल गर्ल' बुलाने और पायल के परिजनों को धमकाने का आरोप लगाया गया है.

दूसरी ओर उनके नौकर सुरेंद्र कोली पर पायल के अपहरण, बलात्कार और उनकी हत्या करने का आरोप लगाया गया है.

 सुरेंद्र ने अपने इक़बालिया बयान में कहा है कि उसने दो बच्चों के अंगों को प्रेशर कुकर में उबाल कर खाया और एक के लीवर को कच्चा खा गया
 
अरूण कुमार

बुधवार को गिरफ़्तार की गईं उत्तर प्रदेश पुलिस की बर्ख़ास्त सब इंस्पेक्टर सिमरनजीत कौर को भी आरोप पत्र में सह अभियुक्त बनाया गया है. उन पर पायल की हत्या के मामले को दबाने में सहयोग करने का आरोप लगाया गया है.

पिछले साल दिसंबर में राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के निठारी गाँव में पंधेर के घर के पास से कई बच्चों और महिलाओं के नरकंकाल मिलने से सनसनी फैल गई थी.

सीबीआई अधिकारियों ने कहा है कि सिमरनजीत कौर उस समय निठारी पुलिस चौकी की प्रभारी थीं जब वहाँ से बच्चे लापता हुए थे. उन पर मामले में लापरवाही बरतने आरोप है.

नरकंकाल मिलने की घटना के बाद सिमरनजीत कौर को उत्तर प्रदेश सरकार ने बर्ख़ास्त कर दिया था.

इक़बालिया बयान

अरूण कुमार ने बताया कि सुरेंद्र कोली ने पूछताछ के दौरान बच्चों की हत्या करने के बाद मानव अंगों को खाने की बात स्वीकार की है.

उन्होंने कहा, "सुरेंद्र ने अपने इक़बालिया बयान में कहा है कि उसने दो बच्चों के अंगों को प्रेशर कुकर में उबाल कर खाया और एक के लीवर को कच्चा खा गया."

सीबीआई के मुताबिक निठारी गाँव से जितने बच्चे गायब हुए थे, उनमें से आठ की पहचान डीएनए टेस्ट के आधार पर हो गई है.

आरोप पत्र में पंधेर को हत्या का अभियुक्त नहीं बनाने पर सीबीआई अधिकारियों का कहना था, "मोबाइल सिम की जाँच से यह पता चला है कि पहली हत्या के समय पंधेर ऑस्ट्रेलिया में थे. दूसरी हत्या के समय भी वो विदेश में थे. इसके बाद हुई नौ हत्यायों के दौरान भी वह नोएडा स्थित अपने घर पर नहीं थे."

अरूण कुमार का कहना था कि पूछताछ के दौरान सुरेंद्र कोली ने जब हत्या करने की बात स्वीकार की तो ऐसा नहीं लगा कि उन्हें अपने किए पर कोई पछतावा है.

 
 
जाँच की तस्वीरें
अब सीबीआई किस तरह कर रही है जाँच.
 
 
कंकालनिठारी और हमारा सच
क्या निठारी के अर्थों को हम सब जानबूझकर अनदेखा कर रहे हैं?
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
निठारी पर बहस, पाटिल का आश्वासन
07 मार्च, 2007 | भारत और पड़ोस
निठारी कांड: कोली का इक़बालिया बयान
01 मार्च, 2007 | भारत और पड़ोस
'निठारी कांड काफ़ी हद तक सुलझा'
09 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
निठारी:दो और पुलिसवालों पर गाज
03 फ़रवरी, 2007 | भारत और पड़ोस
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>