BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
सोमवार, 25 अगस्त, 2008 को 14:53 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
अनाथाश्रम पर हमले में महिला की मौत
 

 
 
उड़ीसा
स्वामी लक्ष्मणानंद की हत्या के बाद राज्य में तनाव है
उड़ीसा के बरगर ज़िले में ईसाइयों के एक अनाथाश्रम में दंगाइयों ने आग लगा दी. इस घटना में वहाँ कार्यरत एक महिला रजनी मांझी की मौत हो गई.

बरगर के पुलिस अधीक्षक अजय बिस्वाल ने बताया कि ज़िले के खूँटापाली गाँव में दोपहर एक से डेढ़ बजे के बीच लगभग 700 से 800 लोगों की भीड़ ने अनाथाश्रम पर आक्रमण कर दिया.

आक्रमणकारियों ने पहले वहाँ तैनात चार सुरक्षाकर्मियों की जमकर पिटाई की और फिर आश्रम में आग लगा दी. दंगाइयों ने जब बच्चों को आग में फेंकने की कोशिश की, तो रजनी ने इसका विरोध किया.

इससे नाराज़ होकर आक्रमणकारियों ने रजनी को ही आग में फेंक दिया. इस हमले में अनाथाश्रम के संस्थापक भी गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें पदमपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

हमले

कंधमाल ज़िले में भी ईसाइयों के कई धार्मिक स्थलों पर भी आक्रमण के समाचार मिले हैं. लेकिन इन हमलों में किसी के हताहत होने का समाचार नहीं है.

कंधमाल के ज़िला मजिस्ट्रेट डॉक्टर कृष्ण कुमार ने बीबीसी से बातचीत में ईसाई धार्मिक स्थलों पर आक्रमण की बात स्वीकार की. उन्होंने बताया कि ज़िले में स्थिति तनावपूर्ण है और आगे हिंसा की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता.

शनिवार की शाम कंधमाल ज़िले में तीस से अज्ञात बंदूकधारियों ने विश्व हिंदू परिषद नेता स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती की हत्या कर दी थी. उनके साथ चार और लोग मारे गए थे.

इसी घटना के बाद ज़िले में स्थिति तनावपूर्ण है. स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती की हत्या के विरोध में सोमवार को राज्यभर में बंद का आह्वान किया गया था, जिसका व्यापक असर पड़ा.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
उड़ीसा में बंद का व्यापक असर
25 अगस्त, 2008 | भारत और पड़ोस
खनन के विरोध में डटे आदिवासी
20 जुलाई, 2008 | भारत और पड़ोस
माओवादी हमले पर दो राज्यों में ठनी
02 जुलाई, 2008 | भारत और पड़ोस
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>