BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
गुरुवार, 26 फ़रवरी, 2009 को 18:10 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
संग्रहालय बना नेपाल का महल
 
राजसिंहासन
इस सिंहासन पर राजशाही की कई पीढ़ियाँ विराजमान होती रही हैं
नेपाल में 240 साल पुरानी राजशाही ख़त्म होने के बाद अब पूर्व राजा के महल को संग्रहालय में तब्दील करके जनता के लिए खोला जा है.

प्रधानमंत्री प्रचंड ने गुरुवार को नारायणहिती महल के इस संग्रहालय का उद्घाटन किया. इसे शुक्रवार से जनता के लिए खोल दिया जाएगा.

अधिकारियों का कहना है कि पहले चरण में 90 कमरों वाले इस महल के 19 कमरे ही खोले जा रहे हैं.

इससे पहले बुधवार को पूर्व राजा ज्ञानेंद्र भारत के लिए रवाना हुए. अपदस्थ किए जाने के बाद से यह उनकी पहली विदेश यात्रा है.

ऐतिहासिक

यह नया संग्रहालय उस परिसर का हिस्सा है जहाँ नेपाल राजशाही पीढ़ियों से रहती आई थी.

इस संग्रहालय के एक बड़े हॉल में वह सोने और चांदी से मढ़ा वह सिंहासन भी रखा गया है जिस पर राजा बैठा करते थे.

इसी महल में आठ साल पहले एक राजकुमार ने ख़ुद को गोली मार लेने से पहले अपने परिवार के दस सदस्यों की जान ले ली थी.

नारायणहिती महल
राजशाही ख़त्म होने के बाद महल पर नेपाल का राष्ट्रीय झंडा फहरा दिया गया था

इस हत्याकांड के बाद घटनाक्रमों का सिलसिला शुरु हो गया. तर्क दिया जाता है कि इन्हीं घटनाक्रमों की वजह से राजशाही समाप्त हुई और माओवादी विद्रोहियों से शांति समझौता हुआ.

जून 2008 में नेपाल के तत्कालीन राजा ज्ञानेंद्र को अपदस्थ कर दिया गया था और नेपाल में राजशाही ख़त्म कर दी गई थी.

पूर्व राजा ज्ञानेंद्र तो पास के जंगल में अपने निजी आवास नागार्जुन में रहने चले गए हैं लेकिन उनकी वृद्ध सौतेली माँ और सौतेली दादी महल के पास ही अपने बंगलों में रहती हैं.

बुधवार को दिल्ली पहुँचे पूर्व राजा ज्ञानेंद्र भारत में निजी यात्रा पर हैं और वे भोपाल में एक विवाह समारोह में शामिल होंगे.

 
 
नेपाल के पूर्व राजा ज्ञानेंद्र महल से बाहर
पूर्व नेपाल नरेश ज्ञानेंद्र महल छोड़ कर आम जीवन गुज़ारने जा रहे हैं.
 
 
नेपाल के राजा ज्ञानेंद्र नेपाल की राजशाही
नेपाल की सदियों पुरानी राजशाही के इतिहास और पड़ावों पर एक नज़र...
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
पूर्व राजा ज्ञानेंद्र पर गिरी 'बिजली'
23 अक्तूबर, 2008 | भारत और पड़ोस
राजशाही पर राजनीति का खेल
22 सितंबर, 2008 | भारत और पड़ोस
माओवादी मंत्रिमंडल में शामिल हुए
31 दिसंबर, 2007 | भारत और पड़ोस
राजशाही ख़त्म करने को मंज़ूरी
28 दिसंबर, 2007 | भारत और पड़ोस
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>