BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
सोमवार, 09 मार्च, 2009 को 14:42 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
बांग्लादेश ने यू ट्यूब को किया ब्लॉक
 
बीडीआर
बीडीआर जवानों ने कुछ दिन पहले ढाका में विद्रोह कर दिया था
वीडियो शेयर करने वाली लोकप्रिय वेबसाइट यू ट्यूब को बांग्लादेश में ब्लॉक कर दिया गया है.

दरअसल प्रधानमंत्री शेख हसीना और सैन्य अधिकारियों के बीच हुई बैठक का वीडियो यू ट्यूब पर डाल दिया गया था. इसी के बाद ये क़दम उठाया गया है.

ये बैठक ढाका में बीडीआर के विद्रोह के दो दिन बाद हुई थी. विद्रोह में 70 से ज़्यादा लोग मारे गए थे.

यू ट्यूब पर डाले गए वीडियो में तीन घंटे की बैठक में से 40 मिनट की बैठक का ब्यौरा डाला गया. इसमें दिखाया गया है कि विद्रोह से पैदा हुई स्थिति पर सरकार की प्रतिक्रिया से सैन्य अधिकारी किस कदर नाराज़ थे.

सेना मे नाराज़गी

विद्रोह के बाद प्रधानमंत्री शेख हसीना अधिकारियों से बात करने पर राज़ी हो गई थी ताकि उन्हें ये समझा सकें कि विद्रोह को रोकने की उनकी रणनीति कारगर साबित हुई है.

वीडियो में दिखाया गया है कि कैसे कई सैन्य अधिकारी चिल्ला रहे थे कि हमें जवाब चाहिए और कैसे प्रधानमंत्री की बोलने की कोशिश अकसर विफल रही.

बीबीसी संवाददाता के मुताबिक विद्रोह को तुरंत दबाने के बजाय विद्रोहियों से बात करने की सरकार की पेशकश से सेना में नाराज़गी थी. सेना में कई लोगों का मानना है कि इससे बीडीआर के जवानों को ज़्यादा समय मिल गया कि वे सैन्य अधिकारियों को मार सकें और उनकी पत्नियों के साथ बलात्कार कर सकें.

बैठक में एक अधिकारी प्रधानमंत्री से कहता है, "मुझे ये समझ में नहीं आ रहा कि इस मसले को राजनीतिक तौर से सुझझाने का विचार आपको किसने दिया. विद्रोह को बल के सहारे कुचलना होगा. लेकिन आपने ऐसा नहीं किया. हर जगह राजनीति स्वीकार्य नहीं है. अगर वहाँ एक टैंक या कमांडो प्लाटून भेजी जाती तो बीडीआर के जवान चीटियों की तरह भाग जाते. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. मेरे साथी असहाय थे और मारे गए. आपने कुछ नहीं किया. "

बांग्लादेश में अधिकारियों ने कहा है कि 'राष्ट्रीय हित' को ध्यान में रखते हुए यू ट्यूब को ब्लॉक किया गया है.

बांग्लादेश दूरसंचार नियामक आयोग के चेयरमैन ज़िया अहमद ने कहा कि यू ट्यूब और ईएसएनआईपीएस नाम की वेबसाइट को इसलिए ब्लॉक किया गया है क्योंकि इन पर डाली गई रिकॉर्डिंग से ताज़ा हालात और बिगड़ सकते हैं.

उनका कहना था, "जिस गतिविधि से राष्ट्रीय एकता को खतरा हो सरकार उस पर रोक लगा सकती है. "

सरकार ने ये नहीं बताया है कि इन वेबसाइटों पर से रोक कब हटाई जाएगी.

बीबीसी संवाददाता के मुताबिक बांग्लादेश में कई लोग मानते हैं कि शेख हसीना ने इस समस्या को ठीक तरीके से निपटाया हालांकि सरकार के सेना के साथ संबंध अच्छे नहीं है.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
'विद्रोही जवानों पर हत्या का आरोप'
01 मार्च, 2009 | भारत और पड़ोस
ढाका में जवानों का विद्रोह
25 फ़रवरी, 2009 | भारत और पड़ोस
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>