BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
सोमवार, 18 मई, 2009 को 08:50 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
प्रभाकरण की 'मौत', कोलंबो में जश्न का माहौल
 
वेलुपिल्लई प्रभाकरण
सेना के अनुसार प्रभाकरण देश के उत्तर में सेना के साथ हो रहे संघर्ष में मारे गए

श्रीलंका में सरकारी टेलिविज़न का कहना है कि तमिल टाइगर विद्रोहियों के प्रमुख वेलुपिल्लई प्रभाकरण मारे गए हैं.

श्रीलंका सेना के प्रमुख के अनुसार प्रभाकरण देश के उत्तर में सेना के साथ हो रहे संघर्ष में मारे गए.

सेना के मुताबिक़ इस तरह 'देश आतंकवाद से मुक्त' हो गया है.

सेना अधिकारियों के हवाले से टेलिविज़न रिपोर्टों में दावा किया जा रहा है कि प्रभाकरण जब एक एंबुलेंस में बैठकर युद्ध क्षेत्र से भागने की कोशिश कर रहे थे उसी समय सैनिकों ने उन पर घात लगाकर हमला किया.

सेना का कहना है कि एलटीटीई के ख़ुफ़िया मामलों के प्रमुख पोट्टु अम्मन और नौसेना शाखा- समुद्री टाइगर्स के प्रमुख सूसाई भी उसी घटना में मारे गए.

बताया जा रहा है कि ये घटना वेल्लामुल्लिविकल में हुई है और वही पिछले कुछ हफ़्तों में संघर्ष का केंद्र रहा.

श्रीलंका पर नियंत्रण

चार्ल्स एंथनी
सेना ने चार्ल्स एंथनी के मारे जाने का भी दावा किया है

सेना के प्रवक्ता ने इस मौक़े पर एक प्रसारण में कहा कि 26 वर्षों के बाद श्रीलंका की पूरी ज़मीन एक बार फिर सेना के नियंत्रण में है.

सेना प्रमुख जनरल सरत फोंसेका ने इसके साथ ही जीत की घोषणा करते हुए कहा कि सेना ने देश को आतंकवाद से मुक्त करने का अभियान पूरा कर लिया है.

उन्होंने बताया कि शवों की औपचारिक पहचान की प्रक्रिया जारी है.

इससे पहले प्रभाकरण के बेटे चार्ल्स एंथनी के अलावा एलटीटीई के तीन अन्य प्रमुख नेता भी मारे गए हैं.

इस बीच श्रीलंका में इस संघर्ष के दौरान मारे गए आम लोगों को लेकर भी अंतरराष्ट्रीय समुदाय में चिंता है.

प्रभाकरण के मारे जाने की ख़बर आने के बाद श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में उत्साह और जश्न का माहौल भी देखा गया.

मगर साथ ही ब्रिटेन के ख़िलाफ़ भी नारे लगे जहाँ प्रदर्शनकारियों का कहना था कि ब्रिटेन अब तक संघर्ष विराम की माँग करके विद्रोहियों को मदद पहुँचाने की कोशिश कर रहा था.

 
 
प्रभाकरण हीरो, हत्यारा या कुछ...
प्रभाकरण पर पुस्तक लिखने वाले नारायणस्वामी का एक आकलन.
 
 
प्रभाकरण मारे गए प्रभाकरण
प्रभाकरण का जीवन
 
 
प्रभाकरण पहेली रही ज़िंदग़ी
तमिल विद्रोही संगठन एलटीटीई के नेता प्रभाकरण की ज़िंदगी पहेली बनी रही.
 
 
श्रीलंका एलटीटीईः अहम पड़ाव
एलटीटीई के तीन दशक से ज़्यादा लंबे सफ़र को जानें, कुछ अहम तारीखों से.
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
'सेना का अभियान अंतिम चरण में'
15 मई, 2009 | भारत और पड़ोस
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>