कागज़ात ऑनलाइन स्टोर करना अब आसान

digilocker

इमेज स्रोत, digilocker.com

अपने ज़रूरी कागज़ात को कहीं भी साथ ले जाने की ज़रुरत नहीं है.

इस महीने सरकार ने डिजिलॉकर नाम की सर्विस शुरू की है, जिससे इन सभी कागज़ात को ऑनलाइन डिजिटल फॉर्मेट में रखना संभव है.

कोई भी पर्सनल कागज़ात जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, कॉलेज और स्कूल के सर्टिफिकेट और दूसरे डॉक्यूमेंट को अब डिजिटल रूप में ऑनलाइन स्टोर करना आसान हो जाएगा.

जिसके पास आधार नंबर है और उससे कनेक्ट किया हुआ मोबाइल फ़ोन है, उसके लिए ऑनलाइन कागज़ात स्टोरेज के लिए स्पेस मिलना बहुत आसान है.

डिजिलॉकर की मदद से पहले अपने कागज़ात को ऑनलाइन स्टोर कीजिये और जिससे भी ये शेयर करना है उसे ऑनलाइन लिंक भेज दीजिये. उसके बाद ये जानकारी सिर्फ उसे ही दिखाई देगी.

इमेज स्रोत, Reuters

डिजिलॉकर में किसी भी तरह के डॉक्यूमेंट स्टोर करके रखे जा सकते हैं.

आम लोगों के लिए इससे कहीं भी अपनी पर्सनल जानकारी शेयर करना बहुत आसान हो गया है. देश के किसी भी कोने से ये जानकारी बस कुछ ही मिनट में भेजी जा सकती है.

गूगल प्ले स्टोर में इसकी रेटिंग तीन से भी कम है जिसका मतलब है इसको इस्तेमाल करने वाले इससे खुश नहीं हैं.

ऐसा लगता है कि 15000 से भी कम बार डाउनलोड हुआ ये ऐप अभी लोगों की उम्मीद पर खरा नहीं उतरा है.

लेकिन ये ऐप डाउनलोड करते समय सावधान रहें. कई फर्जी डिजिलॉकर ऐप भी गूगल प्ले स्टोर में हैं और ध्यान रखें कि आप कहीं अपनी अहम जानकारी किसी गलत ऐप में तो नहीं डाल रहे हैं.

इमेज स्रोत, Getty Images

जो ऐप भारत सरकार का बनाया हुआ है वही एकमात्र आधिकारिक ऐप है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)