तीन स्क्रीनों वाला लैपटॉप

  • 7 जनवरी 2017
रेज़र इमेज कॉपीरइट RAZER
Image caption रेज़र का दावा है ऐसा दुनिया का यह पहला लैपटॉप होगा

गेमिंग पीसी मेकर रेज़र ने अमरीका के लास वेगस में आयोजित कंज़्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो में तीन 4K स्क्रीन वाला लैपटॉप पेश किया है.

'प्रोजेक्ट वलरी' के तहत रेज़र ने इस लैपटॉप की अवधारणा तैयार की है. कंपनी ने दावा किया कि प्रॉजेक्ट वलरी के तहत इस तरह का दुनिया का यह पहला पोर्टेबल लैपटॉप है.

इसमें दो अतिरिक्त स्क्रीन स्लाइड हैं जो सेंट्रल डिस्प्ले से अलग हैं और ये ऑटोमैटिक तंत्र से जुड़े हुए हैं. एक विश्लेषक ने इस डिज़ाइन की तारीफ़ की है. गेमर्स के लिए यह लैपटॉप काफी मुफ़ीद है. तीनों स्क्रीन का साइज़ 17 इंच है.

डबल बैटरी फ़ोन वीडियो दिखाएगा 26 घंटे तक

स्मार्टफ़ोन बिगाड़ रहा है आंखों की सेहत

स्मार्टफ़ोन ऑपरेटिंग सिस्टम का दंगल

इमेज कॉपीरइट RAZER
Image caption प्रोजेक्ट वलरी के तहत आएगा यह लैपटॉप

लैपटॉप फ़ोल्ड कर बंद करने के बाद 1.5 इंच पतला हो जाता है. रेज़र ने कहा कि यह लैपटॉप स्टैंडर्ड गेमिंग लैपटॉप की तुलना में ज़्यादा तगड़ा है.

बीबीसी से कंपनी के प्रवक्ता ने कहा, ''हमलोगों को लगा था कि यह एक किस्म का पागलपन है और क्या यह हो पाएगा? इसका जवाब यह था कि हां, हमलोग पर्याप्त पागल हैं और इसे कर सकते हैं.''

प्रोजेक्ट वलरी एक मॉडल है और रेज़र ने अभी इसे जारी करने की तारीख़ और कीमत का एलान नहीं किया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सीईएस में पेश हुआ यह लैपटॉप

गेमिंग एनलिस्ट जोनाथन वागस्टाफ़ ने इसे लेकर कहा कि सामान्य रूप से गेमर्स इन दिनों एक से ज़्यादा मॉनिटर का इस्तेमाल करते हैं. उन्होंने बीबीसी से कहा, ''हालांकि यह असामान्य है लेकिन मैं हैरान नहीं हूं. मुझे लगता है कि यह कुछ अलग है और लोग ख़रीदेंगे. मेरा मानना है कि यह बिकेगा.''

उन्होंने कहा कि ई-स्पोर्ट्स टूर्नामेंट के कारण गेमर्स की संख्या लगातार बढ़ रही है. वागस्टाफ़ ने कहा कि ऐसी मशीनों की मांग आर्किटेक्चरल और ग्राफ़िक डिजाइन फ़र्मों के बीच बढ़ रही है. उन्होंने कहा, ''यह दिलचस्प है कि पहले पांरपरिक रूप से एपल के उत्पादों में ऐसा देखने को मिलता था.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे