मास्टर कार्ड ने पेश किया फ़िंगरप्रिंट सेंसर वाला क्रेडिट कार्ट

  • 20 अप्रैल 2017
फिंगरप्रिंट सेंसर वाला क्रेडिटकार्ड इमेज कॉपीरइट Mastercard

वित्तीय सेवा मुहैया कराने वाली कंपनी मास्टर कार्ड ने एक ऐसा क्रेडिट कार्ड जारी किया है जिसमें फिंगरप्रिंट सेंसर लगे हैं.

दक्षिण अफ्रीका में सफल ट्रायल के बाद इसे कंपनी ने लॉन्च किया है. यह टेक्नॉलॉजी ठीक उसी तरह काम करती है जैसे मोबाइल फोन पेमेंट टेक्नॉलॉजी.

यूजर को खरीददारी के समय सेंसर के ऊपर अपनी उंगलियां रखनी होंगी.

सुरक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि फिंगरप्रिंट का इस्तेमाल हैंकिंग के लिहाज से पूरी तरह से फूलप्रूफ तो नहीं, लेकिन ये बॉयोमेट्रिक टेक्नॉलॉजी का अच्छा इस्तेमाल जरूर है.

मास्टरकार्ड के सेफ्टी और सिक्यॉरिटी मामलों के चीफ अजय भल्ला कहते हैं, "फिंगरप्रिंट तकनीक से ज्यादा सहूलियत और सुरक्षा बढ़ेगी."

पेमेंट करने के लिए अब कार्ड की ज़रूरत नहीं

तत्काल टिकट: पहचान में क्रेडिट कार्ड भी चलेगा

इमेज कॉपीरइट Mastercard

हालांकि फिंगरप्रिंट सेंसर सुरक्षा के लिहाज से अभेद्य नहीं मानी जाती.

बर्लिन के सिक्योरिटी रिसर्च लैब के चीफ साइंटिस्ट कार्स्टन नोल कहते हैं, "मुझे केवल एक ग्लास या किसी ऐसी चीज की जरूरत होगी जिसे आपने अतीत में छुआ हो."

वे आगे कहते हैं, "अगर इन्फॉर्मेशन चोरी हो जाता है तो इससे पहले कि आपके विकल्प खत्म हो जाएं, फिंगरप्रिंट बदलने के लिए आपके पास नौ मौके होंगे."

लेकिन तमाम चिंताओं के बावजूद कार्स्टन इस तकनीक को लेकर आशान्वित हैं.

वे कहते हैं, "फिलहाल जो टेक्नॉलॉजी उपलब्ध है, ये उससे बेहतर है. चिप और पिन के कॉम्बिनेशन में पिन कमजोर कड़ी है. फिंगरप्रिंट इससे छुटकारा दिलाता है."

बॉयोमेट्रिक वेरिफिकेशन का इस्तेमाल दुकानों से खरीददारी के वक्त ही किया जा सकेगा. ऑनलाइन खरीददारी में पहले की तरह सुरक्षा उपाय जारी रहेंगे.

आपके क्रेडिट कार्ड पर किसकी है नज़र

कैशलेस पेमेंट, लेकिन ज़रा संभल के...

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे