20 दिनों तक 'पॉटी' न करें तो क्या होगा?

  • 10 फरवरी 2018
शौच करता व्यक्ति इमेज कॉपीरइट Getty Images

बीस दिनों तक बिना शौच किए रहना शायद संभव ही नहीं है, लेकिन अधिक दिनों तक टॉललेट नहीं जाना यकीनन परेशान करने वाला और सेहत के लिए ख़तरनाक़ है?

ये सवाल उठाने का कारण है यूके के हार्लो में रहने वाले एक व्यक्ति जिन्होंने लगभग टॉयलेट नहीं जाने की कसम खा ली है और बीते 20 दिनों से शौच करने नहीं गए हैं.

पुलिस का कहना है कि इस व्यक्ति ने अपने शरीर में ड्रग्स यानी नशीले पदार्थ छिपा रखे हैं. पुलिस भरसक कोशिश कर रही है कि उन्हें शौच कराया जाए लेकिन फिलहाल उन्हें इसमें कामयाबी नहीं मिली है.

लेकिन इतने दिन तक शौच नहीं करने का किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ सकता है?

आसमान से गिरी पॉटी, गांव वाले हुए कन्फ़्यूज़

यात्री की 'पॉटी' के कारण प्लेन को रास्ता बदलना पड़ा

अयर ये बात सच है कि इस व्यक्ति ने अपने शरीर में नशीले पदार्थ छिपा रखे हैं तो इससे उनकी जान को ख़तरा हो सकता है. लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो उनके स्वास्थ्य कुछ ज़्यादा बुरा असर नहीं पड़ेगा.

यूके के सोसाइटी ऑफ़ प्राइमरी केयर में पाचक तंत्र के स्वास्थ्य के जानकार ट्रिश मैकनेयर कहती हैं, "इतने कम वक्त में आपके शरीर के भीतर इतने अधिक घातक पदार्थ जमा नहीं हो सकते कि आपके लिए बड़ा ख़तरा बन जाए."

मैकनेयर के अनुसार इसके कारण आंतें फूल सकती हैं और फट भी सकती हैं. लेकिन किसी स्वस्थ युवा व्यक्ति में ऐसा होने से पहले पेट साफ़ होगा यानी व्यक्ति को टॉयलेट जाने की ज़रूरत महसूस होगी.

वो कहती हैं, "इस कारण आपके पेट की आंतों में तेज़ का दर्द होगा और आपको खिंचाव महसूस होगा."

माओ के मल पर स्टालिन की नज़र

अब बंद हो जाएगा आकाश से मल गिरना?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पुलिस ने इस संदिग्ध व्यक्ति को कस्टडी में रखा है. उनका कहना है कि ये व्यक्ति कुछ भी खाने से इंकार कर रहे हैं और इस कारण वो अब तक शौच नहीं गए हैं. लेकिन सच्चाई यह है कि ऐसा करने से कुछ ख़ास लाभ नहीं होगा.

मैकनेयर कहती हैं, "आप खाना खाएं या ना खाएं पेट में आंतें लगातार अपना काम करती रहती हैं. और यही कारण है कि आपके मल में मात्र एक तिहाई हिस्सा ही फूड वेस्ट होता है."

"इसमें मृत और अच्छे बैक्टीरिया के साथ-साथ आंतों के अंदर की खाल के हिस्से भी होते हैं जो कि त्वचा चमड़ी की तरह लगातार उधड़ते रहते हैं."

मैकनेयर को आश्चर्य है कि ये व्यक्ति बिना मल त्याग के इतने दिन कैसे रह सकते हैं. वो कहती हैं, "ये बस वक्त की बात है, लगेगी ज़रूर.अपनी इच्छा पर काबू रख कर अपने पेट पर अधिक दवाब बनाना काफी नहीं है, आप इस पर काबू नहीं कर सकते."

फिलहाल जब तक इस संदिग्ध व्यक्ति का मल विसर्जन नहीं हो जाता पुलिस ने इन्हें ऑबज़र्वेशन में रखा है और नियमित रूप से इनकी मेडिकल जांच करवा रही है.

पहली डेट पर शौच के लिए युवती गई तो...

यहां शौच के लिए देना पड़ता है 'टैक्स'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे