मोबाइल चिप निर्माता कंपनी क्वालकॉम के अधिग्रहण से ट्रंप को आपत्ति क्यों?

  • 13 मार्च 2018
क्वालकॉम इमेज कॉपीरइट QUALCOMM/BBC

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने मोबाइल चिप बनाने वाली कंपनी क्वालकॉम के अधिग्रहण पर रोक लगा दी है.

सिंगापुर की प्रतिद्वंदी कंपनी ब्रॉडकॉम ने क्वालकॉम के अधिग्रहण का प्रस्ताव रखा था. डोनल्ड ट्रंप ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए इस पर रोक लगा दी है.

उनके आदेश में "विश्वसनीय सबूत" का हवाला देते हुए कहा गया है कि करीब नौ हज़ार करोड़ रुपए का यह प्रस्तावित अधिग्रहण "अमरीका की सुरक्षा के लिए खतरा है."

अधिग्रहण को लेकर यह भी चिंता जताई जा रही थी कि इससे चीन वायरलेस 5जी तकनीक को विकसित करने में आगे निकल जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

5जी तकनकी और अधिग्रहण

इसे तकनीक के क्षेत्र का सबसे बड़ा अधिग्रहण माना जा रहा था.

इस अधिग्रहण के बाद ब्रॉडकॉम माइक्रोचीप निर्माण में इंटेल और सैमसंग के बाद दुनिया की तीसरी बड़ी कंपनी बन जाती.

चिप बनाने वाली कंपनियों में वायरलेस 5जी तकनकी विकसित करने की होड़ है और क्वालकॉम को इस क्षेत्र में अग्रणी माना जाता है. ब्रॉडकॉम और चीन की कंपनी हुवई इससे पीछे हैं.

विश्लेषकों का कहना है कि डोनल्ड ट्रंप का यह फैसला प्रतियोगिता से कहीं अधिक सुरक्षा चिंताओं को लेकर किया गया है.

इमेज कॉपीरइट QUALCOMM

ग्लोबल रिसर्च फर्म आईडीसी के उपाध्यक्ष मारियो मोरालेस ने बीबीसी से कहा, "हमलोग दौड़ की शुरुआत में है, और आपके पास 5जी का ताज है, जिसमें सभी शामिल होना चाहते हैं."

वो आगे कहते हैं, "5जी हथियारों की दौड़ में क्वालकॉम एक महत्वपूर्ण हथियार है. अमरीका और दूसरे देश इस दौड़ में प्रथम होना चाहते हैं."

वहीं, ब्रॉडकॉम का कहना है कि वो ट्रंप के आदेश को देख रहे हैं. कंपनी ने इस बात पर असहमति जताई है कि क्वालकॉम का प्रस्तावित अधिग्रहण राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ख़तरा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे