इन दो तेलों से बड़े हो रहे हैं लड़कों के स्तन

  • 19 मार्च 2018
स्वास्थ्य इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES

क्या लैवेंडर और चाय के पौधों के तेल के कारण युवकों के स्तन असामान्य रूप से बढ़ रहे हैं?

एक स्टडी में पाया गया है कि इन तेलों में आठ ऐसे केमिकल होते हैं जिनका हमारे हार्मोन्स में अहम दख़ल होता है.

पुरूषों के स्तर असामान्य रूप से बढ़े होने की बीमारी को गाइनेकॉमस्टिया कहते हैं.

ऑस्ट्रोजन हार्मोन के कारण पुरुषों के स्तन बढ़ते हैं और यह एक अपवाद हार्मोन है. इनके तेलों के इस्तेमाल करने वालों और युवाओं के बढ़ते स्तन के बीच संबंध सामने आए हैं.

एक अमरीकी स्टडी में पाया गया है कि इन तेलों में कुछ ऐसे केमिकल होते हैं जिससे ऑस्ट्रोजेन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ावा मिलता है. हालांकि इन तेलों का प्रभाव हर इंसान में एक समान नहीं होता है.

लैवेंडर और टी ट्री ऑइल

पौधों से जुड़े तेल कई उत्पादों में पाए जाते हैं. साबुन, लोशन, शैम्पू और बाल संवारने वाले उत्पादों में इन तेलों का इस्तेमाल किया जाता है. इसके साथ ही इनका इस्तेमाल सफ़ाई से जुड़े उत्पादों और दवाइयों में भी किया जाता है.

उत्तरी कैरलाइना में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इन्वाइरनमेंटल हेल्थ साइंस (एआईईएचएस) की शीर्ष शोधकर्ता टायलर रेम्ज़ी ने कहा है कि इन तेलों के इस्तेमाल में सतर्क रहना चाहिए.

उन्होंने कहा, ''लोगों को लगता है कि ये ज़रूरी तेल सुरक्षित हैं जबकि इनमें कई तरह के केमिकल होते हैं. ज़ाहिर है हमें इन तेलों के इस्तेमाल को लेकर सावधान रहना चाहिए.

इनमें कई ऐसे तत्व होते हैं जिनसे हार्मोन्स में असंतुलन पैदा होता है.'' हाल के सालों में पुरुषों के स्तन में असामान्य रूप से वृद्धि की शिकायत बढ़ी है. ऐसी शिकायतें भार में भी आ रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऐसी शिकायतों के बीच ही लोगों के खान-पान से जुड़ी आदतों और उत्पादों की पड़ताल में इन तेलों के प्रभाव की बात सामने आई है.

कई मामलों में ऐसा देखा गया कि लोगों ने इन तेलों का इस्तेमाल बंद किया तो उन्हें बढ़ते स्तन को काबू में करने में मदद मिली.

इससे पहले हुई स्टडी में पाया गया था कि लैवेंडर और चाय के पौधे के तेल से पुरुषों के हार्मोन में परिवर्तन हो रहे हैं. इनका असर लड़कों के यौवन पर साफ़ पड़ता है.

एक नई स्टडी के अनुसार तेलों में आठ मुख्य केमिकल पाए जाते हैं. स्टडी में पाया गया कि इन तेलों से टेस्टोस्टेरोन और ओइस्ट्रोजेन हार्मोन में परिवर्तन आता है.

शोध रिपोर्ट के अनुसार, ''लैवेंडर और चाय के पौधे के तेल में ऐसे केमिकल होते हैं जिसे लेकर लोगों को बेपरवाह रहने की ज़रूरत नहीं है. यहां तक कि 65 अन्य तरह के तेलों में भी ऐसे केमिकल हैं जिनसे सेहत से जुड़ी समस्या की आशंका रहती है.''

यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज के प्रोफ़ेसर इआन हफ़ेज का कहना है कि अब इस बात की पुष्टि हो गई है कि इन तेलों में पाए जाने वाले केमिकल के ब्रेस्ट टिशू बढ़ता है. एंटी मेल हार्मोन से पुरुषों के शरीर में इस तरह के परिवर्तन होते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे