कॉस्मेटिक सर्जरी कितना जोखिम भरा, ऐसे पता लगाएं

  • 18 जुलाई 2018
प्लास्टिक सर्जरी इमेज कॉपीरइट Facebook
Image caption डॉक्टर डेनिस फ्रूटाडो रियो द जेनेरियो के सेलिब्रिटी डॉक्टर माने जाते हैं

ब्राजील में एक महिला हिप सर्जरी कराना चाहती थी. वो वहां के एक नामी प्लास्टिक सर्जन के पास गई.

इलाज शुरू हुआ. 46 साल की महिला को एक सुई लगाई गई, जिसके बाद उनकी मौत हो गई.

महिला की मौत के बाद अब डॉक्टर फ़रार है. ब्राजील पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

45 साल के डॉक्टर डेनिस फ्रूटाडो रियो डी जेनेरो के सेलिब्रिटी डॉक्टर माने जाते हैं, जो डॉ. बमबम के नाम से भी जाने जाते हैं.

उनकी लोकप्रियता का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि डॉ. डेनिस के इंस्टाग्राम पर 6.5 लाख फॉलोअर्स हैं.

अच्छी कद-काया और शारीरिक बदलाव की चाहत ने प्लास्टिक सर्जरी की मांग बढ़ा दी है.

इसे कराने वाले लोगों की संख्या दिनों-दिन बढ़ रही है, पर सवाल उठता है कि यह कितना सुरक्षित है?

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

रात भर नहीं सोई

"जैसे ही मेरी सर्जरी पूरी हुई, मैं अपनी कार में गई और खूब रोई. ऐसा लगा कि मैंने ख़ुद को नुक़सान पहुंचाया है."

टीना (बदला हुआ नाम) उन हज़ारों महिलाओं में से एक हैं, जिन्होंने ख़ुद को ज्यादा ख़ूबसूरत बनाने की चाहत में प्लास्टिक सर्जरी का सहारा लिया.

वो कहती हैं, "यह बहुत आसान था."

टीना ने अपने होठों की सर्जरी कराई थीं. वो बताती हैं, "पहले मुझे लगता था कि मेरे होठों में सुई लगाई जाएगी और मेरे होठ आकर्षक हो जाएंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. सुई लगाने के बाद यह पूरी तरह सूज गया."

टीना पूरी रात नहीं सोईं. रात भर उनके होठों मे असहनीय दर्द होता रहा.

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

पछतावा

वो कहती हैं, "मैं दो बजे रात को जगी, बाथरूम में गई और पांच बजे सुबह तक अपने होठों को निहारती रही. मुझे बहुत चिंता हो रही थी. मुझे ख़ुद पर ग़ुस्सा आ रहा था कि मैंने सर्जरी कराने का फ़ैसला क्यों किया."

साल 2016 के अक्तूबर में बीबीसी के कराए गए एक सर्वे में 32 प्रतिशत महिलाएं कॉस्मेटिक सर्जरी कराना चाहती थी.

इनमें से 35 साल से कम उम्र की महिलाओं की तदाद 45 प्रतिशत थी.

सिर्फ होठों की ही नहीं, महिलाओं में नाक और ब्रेस्ट सर्जरी का प्रचलन भी हाल के वर्षों में बढ़ा है.

सारा (बदला हुआ नाम) 21 साल की थीं, जब उन्होंने ब्रेस्ट सर्जरी करवाई थीं. वो कहती हैं, "जिस तरह मेरा शरीर था, उससे मैं खुश नहीं थी."

वो बताती हैं, "13 साल की उम्र में मैं ख़ूब खाने लगी थी. मैं मोटी हो गई थी. मुझे अपने शरीर से नफ़रत होने लगी थी. ख़ासकर ब्रेस्ट से. जब मैं 18 की हुई तो मैंने सर्जरी कराने का फ़ैसला किया, इसके अलावा कोई उपाय भी तो नहीं था."

सर्जरी कराने के बाद सारा को सीने में बहुत दर्द हुआ और वो जैसा चाहती थीं, वैसा परिणाम उन्हें नहीं मिला.

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ अस्थेटिक प्लास्टिक सर्जन्स के आंकड़ों के मुताबिक़ प्लास्टिक सर्जरी कराने वाले लोगों की संख्या दिनों-दिन बढ़ रही है.

सर्जरी कई तरह की होती हैं. इनमें से एक में सिलिकन का इस्तेमाल कर शरीर के हिस्से को आकर्षक बनाया जाता है. ब्रेस्ट और हिप सर्जरी में इसका इस्तेमाल होता है.

साल 2010 में ब्रिटेन में यह मामला भी सामने आया था कि सर्जरी में वैसे सिलिकन का इस्तेमाल किया जा रहा था, जो उद्योगों में इस्तेमाल होते हैं.

इसके बाद से इस क्षेत्र पर नियंत्रण की मांग उठती आई है.

एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष राजीव ग्रोवर कहते हैं, "बहुतों को सर्जरी ग्लैमरस दिखने का आसान ज़रिया लगता है. मैं मानता हूं कि यह बिल्कुल ग़लत है और इस चाहत को बेवजह नहीं बेचा जाना चाहिए."

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

सर्जरी के कई मामले सफल भी रहे हैं. लेकिन विश्लेषक किसी भी सर्जरी से पहले लोगों को कुछ जानकारी लेने की सलाह देते हैं.

  • जिस भी सर्जन से आप सर्जरी कराने जा रहे हैं, उनका क्वालिफिकेशन जरूर जांच लें.
  • यह भी जांचे कि पूरे इलाज में कितना पैसा लगेगा और शिकायत का क्या तरीक़ा है.
  • यह भी ज़रूर पूछें कि जैसा आप चाहते हैं वैसा परिणाम मिलेगा या नहीं.
  • डॉक्टरों का पुराना ट्रैक रिकॉर्ड देखें.
  • चाहत और जोखिम की तुलना जरूर करें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे