डायनासोर के नए अवशेष

  • 28 अगस्त 2009
डायनासोर
Image caption ऑस्ट्रेलिया में इससे पहले भी डायनासोर की कई प्रजातियां मिली हैं.

ऑस्ट्रेलिया के जीवाश्म वैज्ञानिकों ने कहा है कि उन्हें उत्तरी राज्य क्वींसलैंड में भेंड़ों के एक फ़ार्म में डायनासोर की एक नई प्रजाति के अवशेष मिले हैं.

इस डायनासोर को जैक भी कहा जाता है. नौ करोड़ सत्तर लाख साल पुराने इन अवशेषों से ये पता चला है कि ये ज़्यादातर पेड़-पौधे खाने वाले थे.

इन अवशेषों का पता इरोमंगा शहर में चला है. यहां बहुत सारे अवशेष पाए जाते हैं और ये इलाक़ा एक समय में समुद्र से ढका हुआ था.

जीवाश्म वैज्ञानिकों का कहना है कि ताज़ा जानकारी से पता चलता है कि डायनासोर की खोज के मामले में ऑस्ट्रेलिया एक बड़ा केंद्र है.

यहां के सबसे बड़े डायनासोर कूपर के अवशेष भी 2004 में इन्हीं भेड़ों के फ़ार्म में पाए गए थे. कूपर लगभग 30 मीटर लंबा, बहुत विशाल और कवचधारी था.

क्वींसलैंड संग्रहालय के जीवाश्म वैज्ञानिक स्कॉट हॉकनेन का कहना है कि ज़ैक का अस्थिपंजर कूपर से छोटा लेकिन पूर्ण था.

ज़ैक की गर्दन लंबी, सिर छोटा और दांत मोटे थे और लंबी गर्दन का संतुलन बनाने के लिए एक लंबी पूँछ भी थी.

हॉकनैन का कहना था कि क्वींसलैंड के कई भागों से डायनासोर के अवशेष मिले है और इस तरह से ऑस्ट्रेलिया डॉयनासोर की खोज का केंद्र बन गया है.

साथ ही उनका कहना था कि जैक के ज़्यादातर अवशेष ज़मीन के बाहर निकले हुए थे लेकिन अब और खुदाई की योजना बनाई जा रही है.

ज़मीन के अंदर डायनासोर की शरीर के सैंकड़ों ढ़ाँचे होंगे और हड्डियों की परतें इतनी गहरी हैं कि इन्हें बाहर निकालना इतना आसान नहीं है.

इसी साल की शुरुआत में डायनासोर की तीन नई प्रजातियां पाई गई थी जो जैक के समय ही जितनी पुरानी थी.

संबंधित समाचार