ज्ञान बढ़ाता एसएमएस

मोबाइल
Image caption शोध के मुताबिक एसएमएस भाषाई ज्ञान बढ़ाता है

अभिभावक अक़्सर मोबाइल फ़ोन से एसएमएस भेजने की बच्चों की आदत से तंग आ जाते हैं.

लेकिन एक ताज़ा शोध के निष्कर्ष से ऐसे अभिभावकों चिंता दूर हो सकती है.

इसके मुताबिक नियमित टेक्स्ट मैसेज करने वाले बच्चों के अक्षर ज्ञान में सुधार आता है.

आठ से बारह साल के बच्चों में किए गए इस शोध के अनुसार ये एक अवधारणा है कि मोबाइल पर आधे अधूरे शब्द लिखने से भाषा खराब होती है.

शोधकर्ता कहते हैं कि शब्दों को संक्षेप में लिखने की कला सीखते-सीखते बच्चे का अंग्रेज़ी भाषा के स्वरों का ज्ञान बेहतर होने लगा है.

शोधकर्ताओं को भी इस बात का अश्चर्य हो रहा है कि साक्षरता और टेक्स्ट मैसेज का ऐसा संबंध है.

ब्रिटिश अकादमी ने इस शोध के लिए कुछ धन दिया है और उसका कहना है सही शब्द रचना में जिस हुनर की ज़रुरत होती है वही शब्दों के स्वरों को जानने में भी चाहिए होते है.

शोधकर्ताओं की माने तो मोबाइल पर संदेश देने वाले बच्चे रोज़ लिखने और सही स्पेलिंग का अभ्यास कर रहे होते है.

डेवलपमेंटल साइकोलॉजी की शिक्षिका क्लेयर वुड का कहना है कि ''बच्चों का साक्षरता स्तर गिर रहा है, पर ये टेक्स्ट मैसेज के कारण नहीं.''

ये अंतरिम रिपोर्ट है जिसमे ब्रिटेन के 63 छात्रों पर साल भर शोध किया गया और पूरी रिपोर्ट अगले साल आएगी. पर अभी तक शोधकर्ताओं को मोबाइल संदेश और साक्षरता में कोई नकारात्मक संबंध नहीं मिला है.

संबंधित समाचार