गूगल के मुक़ाबले में माइक्रोसॉफ़्ट

माइक्रोसॉफ़्ट ऑफ़िस

अपने व्यावसायिक रणनीति में व्यापक बदलाव करते हुए माइक्रोसॉफ़्ट ने अपने कई लोकप्रिय सॉफ़्टवेयर के कट-डाउन वर्ज़न तैयार किए हैं और कई सॉफ़्टवेयर को इंटरनेट पर मुफ़्त मुहैया करवाने जा रही है.

उदाहरण के तौर पर माइक्रोसॉफ़्ट ने बिज़नेस और घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 'ऑफ़िस 2010' लॉन्च किया है. इस सॉफ़्टवेयर का एक हिस्सा इंटरनेट पर मुफ़्त उपलब्ध है जिसे 'ऑफ़िस वेब एप्स' कहा जा रहा है.

विश्लेषकों का कहना है कि माइक्रोसॉफ़्ट का यह प्रयास गूगल से निपटने की कोशिश है जो अपने मुफ़्त ऑनलाइन टूल्स के ज़रिए माइक्रोसॉफ़्ट के व्यवसाय को चुनौती दे रहा है.

इससे पहले माइक्रोसॉफ़्ट ने हमेशा अपने ग्राहकों को बाध्य किया है कि वे हर कुछ वर्षों बाद ऑफ़िस सॉफ़्टवेयर का अपग्रे़डेड वर्ज़न ख़रीदें.

इस पैकेज में वर्ड, आउटलुक और एक्सेल शामिल है.

लेकिन पिछले कुछ समय से माइक्रोसॉफ़्ट के उत्पादों को कड़ी चुनौती मिलने लगी क्योंकि लोगों ने वर्ड प्रोसेसिंग, इमेल और स्प्रेडशीट के लिए गूगल डॉक्स के ज़रिए उपलब्ध करवाए जा रहे मुफ़्त सॉफ़्टवेयर का उपयोग करना शुरु कर दिया.

इसलिए अब माइक्रोसॉफ़्ट फिर से अपनी जगह पाने की कोशिश कर रहा है.

इसका उदाहरण ऑफ़िस 2010 है जिसका कट डाउन वर्ज़न इंटरनेट पर मुफ़्त उपलब्ध है. गूगल डॉक्स की तरह.

हालांकि माइक्रोसॉफ़्ट अभी भी मानकर चल रही है कि उसके कॉर्पोरेट ग्राहक अभी भी ऑफ़िस का पूरा वर्ज़न खरीदेंगे और इसी से उसे लाभ होगा.

इसके अलावा जो कुछ और परिवर्तन माइक्रोसॉफ़्ट ने किए हैं उसमें वर्ड और एक्सेल को स्मार्ट फ़ोन पर काम करने लायक बनाना शामिल है.

संबंधित समाचार