पृथ्वी की आयु 7 करोड़ वर्ष कम

अब तक वैज्ञानिक यही मानते थे कि पृथ्वी की उत्पत्ति 4.537 अरब वर्ष पहले हुई थी लेकिन नए अध्ययन में पृथ्वी की उम्र 7 करोड़ वर्ष कम होने का दावा किया गया है.

कैंब्रिज़ विश्वविद्यालय का यह शोध नेचर जीओसाइंस पत्रिका में प्रकाशित हुआ है जिसमें पृथ्वी की उत्पत्ति काल को 7करोड़ वर्ष कम बताया गया है.

पृथ्वी पर गिरे प्राचीन उल्कापिंडो से प्राप्त डाटा से पृथ्वी की उत्पत्ति काल में इतने बड़े अंतर का पता लगा है.

वैज्ञानिक पृथ्वी के आवरण और उल्कापिंडों से मिली सूचनाओं के आधार पर तुलना कर इसका विश्लेषण करने में लगे हैं.

अंतर मिलने पर वैज्ञानिकों ने सुझाया है कि इस ग्रह की उत्पत्ति की प्रक्रिया में पहले की मान्यता की अपेक्षा तीन गुना ज्यादा समय लगा है.

चंद्रमा से नमूने के तौर पर मिले नये डाटा के परिप्रेक्ष्य में यह सिद्धांत साबित हो गया है कि चंद्रमा पृथ्वी से टूट कर बना है.

इस घटना पर व्यापक रूप से विश्वास किया गया कि पृथ्वी के विकास की प्रक्रिया का अब अंत हो गया है.

इस अध्ययन के पहले वैज्ञानिक मानते थे कि इसके गठन की प्रक्रिया में 3 करोड़ वर्ष का समय लगा जो कि अपने दर से बढ़ी और इसकी निर्भरता कम हुई.

लेकिन इस नए शोध ने सुझाया है कि यह प्रक्रिया 100 करोड़ साल का समय ले सकती है और इसके कंपन की गति भी बढ़ सकती है.

संबंधित समाचार