एक साथ धड़कते हैं दिल

भ्रूण
Image caption शोध के नतीजे का इस्तेमाल करके गर्भवती माताओं का इलाज कर सकते हैं

ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने अपने अध्ययन में पाया है कि मां का दिल उसके गर्भ में पल रहे भ्रूण के साथ-साथ धड़कता है.

इस अध्ययन के नतीजों का इस्तेमाल अब गर्भवती महिलाओं के इलाज में किया जा रहा है.

वैज्ञानिकों का मानना है कि जब गर्भवती महिला लयबद्ध ढंग से सांस लेती है तो मां और उसके अजन्मे भ्रूण के दिल एक साथ धड़कते हैं.

ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ एबरडीन के वैज्ञानिकों का दावा है कि इस शोध से एक नई तकनीक की खोज का मार्ग प्रशस्त होता है. इस तकनीक की मदद से गर्भावस्था के दौरान भ्रूण विकास संबंधी समस्याओं का पता लगाने में मदद मिलेगी.

जब दिल साथ न धड़के

वैज्ञानिकों ने बताया कि अगर धड़कन साथ-साथ नहीं हो, तो इसका मतलब है कि कहीं न कहीं कोई दिक्कत है. फिर गर्भवती मां को डॉक्टरी सलाह की ज़रूरत होगी.

यूनिवर्सिटी ऑफ एबरडीन के भौतिकविद और इस वैज्ञानिक दल में शामिल डॉ मार्को थील ने कहा, "गर्भवती महिलाएँ अक्सर अपने बच्चे के साथ भावनात्मक संबंध की जानकारी देती हैं. लेकिन अभी तक इस बात के लिए कोई पुख्ता प्रमाण नहीं था कि यह जुड़ाव एक साथ दिल की धड़कन में दिखाई देती है."

उन्होंने कहा, "हमारे नतीज़ों से पता चलता है कि मां और भ्रूण के दिल एक साथ धड़कते हैं-लेकिन यह तभी होता है जब मां लयबद्ध तरीके से सांस ले रही हो. "

डॉ थील ने कहा, "इन सबके बीच ही भ्रूण अपने दिल की धड़कन के साथ समायोजन बिठाता है. ख़ास बात है कि यह घटना उस समय नहीं हो पाती है जब मां सामान्य तौर पर सांस ले रही हो."

अध्ययन के नतीजों का इस्तेमाल अब जर्मनी की ग्रोनीमेयर इंस्टीट्यूट ऑफ माइक्रो थैरेपी में गर्भवती महिलाओं के इलाज में किया जा रहा है.

संबंधित समाचार