यूएफ़ओ का रिकॉर्ड रखने का आदेश

  • 13 अगस्त 2010

ब्राज़ील की सरकार ने वायुसेना को उड़नतश्तरी देखे जाने की किसी भी घटना का औपचारिक रिकॉर्ड रखने को कहा है.

सरकार ने वायुसेना के पायलटों के अलावा नागरिक विमानन सेवा के पायलटों को भी उड़नतश्तरियों समेत आकाश में उड़ती तमाम अनजान चीज़ों यानि यूएफ़ओ की रिपोर्ट राष्ट्रीय वायु रक्षा कमान में दर्ज कराने का हुक़्म दिया है.

यह आदेश ब्राज़ील के एयर ट्रैफ़िक कंट्रोलरों पर भी लागू होगा.

ये सारी रिपोर्टें रियोदिजनेरो में राष्ट्रीय अभिलेखागार में सुरक्षित रखी जाएंगी. इनमें आकाश में दिखने वाली किसी भी असामान्य चीज़ की फ़ोटो और वीडियो भी शामिल होंगे.

बाद में अभिलेखागार के ज़रिए यूएफ़ओ दिखने संबंधी सारी सूचनाएँ अनुसंधान करने वालों और पराग्रहीय जीवन का सबूत ढूंढने में जुटे लोगों को उपलब्ध कराई जाएंगी.

इस बीच ब्राज़ील की वायुसेना ने स्पष्ट किया है कि उसका काम उड़नतश्तरियाँ दिखने संबंधी जानकारियों को एकत्रित करना भर होगा.

वायुसेना ने एक बयान में कहा, "वायुसेना कमान के पास यूएफ़ओ के बारे में वैज्ञानिक अनुसंधान करने के संसाधन नहीं हैं. हमारा काम सूचनाओं को रिकॉर्ड करने तक सीमित होगा."

दावे

उल्लेखनीय है कि हाल के दशकों में ब्राज़ील में उड़नतश्तरियों को देखे जाने का दावा कई बार किया गया है.

सबसे गंभीर घटना 1986 की है जब साओ पालो शहर के आसमान में एक असामान्य चीज़ देखे जाने के बाद वायुसेना के युद्धक विमानों को उसके पीछे लगाया गया था. हालाँकि पूरा मामला आख़िर था क्या, इस बारे में आज तक कोई रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गई है.

इसी तरह 1977 में अमेज़न क्षेत्र के कस्बे विजिय की जनता ने सेना से मदद की गुहार लगाई थी, क्योंकि कुछ लोगों ने पराग्रहीय जीवों के हमले का दावा किया था.

एक स्थानीय अख़बार से बातचीत में ब्राज़ील के एक एयर ट्रैफ़िर कंट्रोलर ने दावा किया है कि यूएफ़ओ देखने की बात करने वालों में कई मंत्री और एक पूर्व राष्ट्रपति तक शामिल हैं.

संबंधित समाचार