बैक्टीरिया में छिपा है जीवन का रहस्य

डियामांटे झील
Image caption यह झील ज्वालामुखी के विस्फोट से बने गड्ढे में स्थित है.

अर्जेंटीना की एक झील में पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत और अन्य ग्रहों पर जीवन की संभावनाओं के रहस्य छिपे हुए हैं.

अर्जेंटीना के उत्तर-पश्चिम में ज्वालामुखी के विस्फोट से बने गड्ढे में स्थित इस झील में वैज्ञानिकों ने लाखों की संख्या में सुपर बैक्टीरिया (जीवाणुओं) को ढूँढ निकाला है.

समुद्र तल से क़रीब चार हज़ार मीटर की ऊँचाई पर स्थित डियामांटे नाम की इस झील में ऑक्सीजन की बेहद कमी है.

इन जीवाणुओं की प्रतिरोधक क्षमता ग़जब की है. ये किसी भी तरह के माहौल में ज़िंदा रह सकते हैं इसलिए इन्हें सुपर बैक्टीरिया कहा जाता है.

ये ऐसे जीवाणु हैं जो अल्ट्रा वॉयलट विकिरण यानी पराबैंगनी किरणों के विकरण से लेकर उच्च अम्लीय और क्षारीय (खारे) पानी तक में भी रह सकते हैं.

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह ठीक उसी तरह का वातावरण होता है जैसा कि पृथ्वी की उत्पत्ति के समय था.

वैज्ञनिक कहते हैं कि इन जीवों के अध्ययन से यह समझने में मदद मिलेगी कि इतनी कठिन परिस्थितयों में भी जीवन का विकास कैसे हुआ.

इससे पृथ्वी के अलावा दूसरों ग्रहों पर जीवन की संभावनाओं को समझने में मदद मिलेगी.

वैज्ञानिकों को विश्वास है कि अगर ये बैक्टीरिया यहाँ ज़िंदा रह सकते हैं तो वे बुध और दूसरे ग्रहों की कठिन परिस्थितियों में भी ज़िंदा रह सकते हैं.

वैज्ञानिक अब इन जीवाणुओं के डीएनए की पूरी संरचना का अध्ययन करने की योजना बना रहे हैं.

यह अध्ययन दवा उद्योग के लिए भी लाभदायक हो सकता है क्योंकि इन जीवाणुओं से नए एंटीऑक्सीडेंट और एंजाइम बनाए जा सकते हैं.

संबंधित समाचार