ज़्यादा एसएमएस करना है नुकसानदेह

  • 10 नवंबर 2010

अगर आपके बच्चे दिन भर मोबाइल फ़ोन से एसएमएस करने में लगे रहते हैं तो ये उनकी सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है. ये सलाह एक अमरीकी डॉक्टर ने दी है.

डॉक्टर स्कॉट फ़्रेंक के मुताबिक जो किशोर दिन भर में करीब 120 टेक्स संदेश भेजते हैं, ऐसे बच्चों में शराब पीने, सिगरेट पीने और शारीरिक संबंध बनाने की आशंका ज़्यादा रहती है.

उन्होंने एक पत्रकार वार्ता में बताया कि बेहताशा एसएमएस करने और सोशल नेटवर्किंग के इस्तेमाल से बच्चों में जोख़िम भरे रवैया को बढ़ावा मिलता है.

डॉक्टर स्कॉट ने 13 से 18 साल के बीच हाई स्कूल के चार हज़ार बच्चों से बात की थी कि वे कितने एसएमएस भेजते हैं या सोशल मीडिया का कितना इस्तेमाल करते हैं.

करीब 20 फ़ीसदी बच्चे हाइपर-टेक्सटर पाए गए यानी जो एक दिन में 120 से ज़्यादा संदेश भेजते हैं.

शोध में बताया गया है कि अगर इन बच्चों की जीवनशैली और परिवार की आमदनी पर ग़ौर किया जाए तो इस बात के आसार ज़्यादा हैं कि ये बच्चे शराब पीते हैं, मादक पदार्थों का सेवन करते हैं और शारीरिक संबंध बना चुके हैं.

बुरा असर

सोशल नेटवर्किंग साइटों पर ज़्यादा समय बिताने वाले बच्चों में भी ऐसा ही पाया गया है.

वहीं ब्रितानी विशेषज्ञ डॉक्टर कैटरिऔना मॉरीसन ने कहा है कि इंटरनेट से चिपके रहने वाले लोगों को और भी कई बुरी लतें लगने का ख़तरा रहता है.

वे कहती हैं, “कुछ लोगों के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल स्वास्थ के हिसाब से अच्छा नहीं है और उनके जीवन को बेहतर नहीं बनाता.”

डॉक्टर मॉरीसन ने अत्यधिक इंटरनेट इस्तेमाल और अवसाद के बीच संबंध पर शोध किया है.

अमरीका में इस विषय पर काम करने वाले डॉक्टर स्कॉट फ़्रेंक का मानना है कि अगर ज़्यादा एसएमएस या इंटरनेट इस्तेमाल की आदत को रोका नहीं गया तो बच्चों की सेहत पर बुरा असर पड़ेगा और माता-पिता को इस पर ध्यान देना होगा.

संबंधित समाचार