प्रतिपदार्थ के अणु पकड़ने में सफलता मिली

  • 18 नवंबर 2010
अणु
Image caption एंटी मैटर के अणु पकड़ना वैज्ञानिको के लिए बड़ी सफलता है.

विश्व में पहली बार वैज्ञानिकों ने एंटी मैटर या प्रतिपदार्थ के अणुओं कुछ क्षणों के लिए पकड़ पाने में सफलता प्राप्त की है जिससे दुनिया की उत्पत्ति के बारे में काफ़ी जानकारी मिल सकती है.

यूरोपीय नाभिकीय शोध संगठन सर्न के वैज्ञानिकों ने एक चुंबकीय क्षेत्र में हाइड्रोजन के 38 एंटी मैटर अणुओं को एक सेकंड के छठे हिस्से के लिए क़ैद करने में सफलता प्राप्त की.

एंटी मैटर को एक सेकंड के छठे हिस्से के लिए क़ैद करने में मिली सफलता से एंटी मैटर या प्रति तत्व की संरचना समझने में वैज्ञानिकों को मदद मिलेगी.

एक वैज्ञानिक का कहना था कि यह सोचना ही उनके लिए अभूतपूर्व था कि उन लोगों ने प्रतिपदार्थ के अणुओं को पकड़ा.

प्रति पदार्थ यानी एंटी मैटर, जैसा कि नाम से लग रहा है कि यह पदार्थ का विलोम शब्द है.

पदार्थ उसे कहते हैं जिससे कि पूरी दुनिया का निर्माण हुआ है. जब पदार्थ और प्रति पदार्थ एक साथ जुड़ते हैं तो एक दूसरे का अस्तित्व समाप्त कर देते हैं और शेष कुछ नहीं बचता.

एंटी मैटर महज़ क्षण भर के लिए उस समय अस्तित्व में आते हैं जब परमाणु तीव्र गति के दौरान छोटे- छोटे टुकड़ों में टूटता है.

अब भौतिक वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्होंने इन क्षणिक अस्तित्व वाले कणों को पकड़ने का रास्ता ढूंढ़ लिया है.

यूरोपीय नाभिकीय रिसर्च संगठन यानी सर्न के वैज्ञानिकों ने हाइड्रोजन के 38 परमाणुओं को एक चुंबकीय क्षेत्र से सेकंड के छठे हिस्से तक पकड़ने में सफलता पाई है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि इन कणों की संरचना को जानने के लिए इतना समय पर्याप्त है.

शोध के बारे में सर्न के वैज्ञानिक प्रोफेसर जेफ्री हैंग्स्ट बताते हैं, ‘‘हम एंटी मैटर के निष्पक्ष यानी न्यूट्रल परमाणु को पकड़ने में पहली बार सफल हुए हैं. सैर्न की प्रयोगशाला में हम कम ऊर्जा पर इसके उत्पादन के प्रयास में साल 2002 से ही लगे हुए हैं. लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि हम इसे पकड़ कर इसकी गति को कुछ समय के लिए रोकने में सफल हुए हैं ताकि ये पलायन न कर सकें और न ही मैटर के संपर्क में आकर नष्ट हो सकें.’’

प्रोफेसर हैंग्स्ट का कहना है कि एंटीमैटर की खोज महज़ जिज्ञासावश हुई है न कि किसी व्यावसायिक उद्देश्य से.

इस तरह के प्रयोग के कोई उदाहरण नहीं हैं. निश्चित तौर पर अंतरिक्ष और समय की प्रकृति को जानने के लिए ये एक मौलिक प्रयोग है. ये कोई ऐसा प्रयोग भी नहीं है जिससे कि अभी से कोई बहुत उम्मीद लगा ली जाए.

एंटी मैटर के बारे में काफ़ी दिलचस्प बातें लिखी गई हैं.

लेखकों का अनुमान था कि एक दिन एंटी मैटर को पकड़ने में सफलता ज़रूर मिलेगी और इसे ऊर्जा के एक शक्तिशाली स्रोत के रूप में इस्तेमाल किया जा सकेगा.

उदाहरण के लिए एंजेल्स एन्ड डेमंस नामक किताब में कहा गया है कि एंटी मैटर को सर्न की प्रयोगशाला से एक विनाशकारी बम बनाने के लिए चुराया गया है. साथ ही एक टीवी सीरीज़ स्टार ट्रेक के मुताबिक इसका प्रयोग आकाशगंगा में जहाज़ों को चलाने में किया जाता है.

लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि फिलहाल ऐसी कोई संभावना नहीं जताई जा सकती. कम से कम अभी यही कहना ठीक होगा क्योंकि अभी उन्हें इसे सिर्फ़ क्षण भर के लिए क़ैद करने में सफलता मिली है.

संबंधित समाचार