महासागर में 50 दिन से खोए लड़के जीवित मिले

प्रशांत महासागर (फ़ाइल फ़ोटो)

पचास दिन तक प्रशांत महासागर में खोए रहे तीन लड़कों को उनकी नाव में जीवित पाया गया है. इनकी उम्र 14-15 साल है.

अक्तूबर माह की शुरुआत में दक्षिणी प्रशांत महासागर में न्यूज़ीलैंड प्रशासित टोकेलाओ टापुओं के तीन लड़के अपनी एल्युमिनियम की नाव में सवार समुद्र में खो गए थे.

उन्हें खोजने की कोशिश की गई थी लेकिन उन्हें मृतक मान लिया गया था.

ट्यूना मछली का शिकार करने वाली एक मछुआरे ने फिजी के नज़दीक इन लड़कों को खोज निकाला और फिर इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया.

1500 किलोमीटर दूर पाया

जहाँ से इन लड़कों ने अपनी यात्रा शुरु की थी, इन लड़कों को उस जगह से 1500 किलोमीटर दूर पाया गया.

Image caption इन लड़कों ने तिरपाल में इकट्ठा पानी पीकर गुज़ारा किया

अब भीषण गर्मी और सूर्य की किरणों से जलने के कारण इन लड़कों का इलाज हो रहा है.

ये लड़के नारियल, तरपाल में एकत्र किए ताज़ा पानी और कुछ समुद्री पक्षियों के आहार पर जीवित रहे.

बुधवार दोपहर को इन लड़कों को पुर्वोत्तर फिजी में ट्यूना का शिकार कर रही नाव के चालक दल के एक सदस्य ने देखा.

नाव के फ़र्स्ट मेट ताई फ़्रेडिक्सन ने बीबीसी को बताया, "मैं नाव को लड़को की नाव के पास ले गया और उनसे पूछा कि क्या कोई मदद चाहिए और जवाब मिला -- हाँ, जी हाँ...हमने तत्काल बचाव कार्य शुरु किया और उन्हें अपनी नाव पर लाकर प्राथमिक चिकित्सा दी."

ताई फ़्रेडिक्सन ने बताया, "एक ऐसा समय था जब ये लोग केवल तरपाल में एकत्र किया ताज़ा पानी पी रहे थे.उन्होंने ये भी बताया कि दो हफ़्ते पहले उन्होंने भाग्यवश एक पक्षी पकड़ा था..लेकिन उन्होंने ये भी बताया कि पिछले दो दिनों में उन्होंने नमक वाला समुद्री पानी पीना शुरु कर दिया था जो उनके लिए घातक हो सकता था."

ताई फ़्रेडिक्सन ने बताया कि इतना सब कुछ झेलने के बाद भी लड़के काफ़ी अच्छी हालत में थे और उनका मनोबल काफ़ी अच्छा था.

संबंधित समाचार