वार्नर ब्रदर्स की फ़िल्में फ़ेसबुक पर

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सोशल नेटवर्किंग साइट फ़ेसबुक पर अब आप न सिर्फ़ दोस्तों से संपर्क में रह पाएँगे बल्कि फ़िल्में भी देख सकेंगे.

हॉलीवुड के बड़े स्टूडियो वार्नर ब्रदर्स ने कहा है कि वो फ़ेसबुक पर अपनी कई फ़िल्में दिखाएगा. इस तरह फ़ेसबुक से जुड़ने वाला वार्नर ब्रदर्स पहला स्टूडियो है.

शुरुआत में ये सुविधा केवल अमरीका में रहने वाले फ़ेसबुक यूज़र्स को ही मिलेगी. अगर ये प्रयोग सफल रहता है तो दूसरे देशों में भी ऐसा किया जा सकता है.

फ़ेसबुक पर फ़िल्म को किराए पर देखने के लिए 30 फ़ेसबुक क्रेडिट लगेगें ..लगभग तीन डॉलर. लोग 48 घंटे के अंदर-अंदर फ़िल्म देख सकेंगे.

फ़ेसबुक पर दिखाई जाने वाली पहली फ़िल्म होगी 2008 में आई बैटमैन- द डार्क नाइट. अगले कुछ महीनों में कई और फ़िल्में भी फ़ेसबुक पर दिखाई जाएँगी.

वार्नर ब्रदर्स ने एक बयान में कहा है, “लाखों लोगों की ज़िंदगी में फ़ेसबुक अहम हिस्सा बन चुका है. फ़ेसबुक पर फ़िल्में दिखाना डिजिटल वितरण के हमारे प्रयासों का हिस्सा है. ये एक सीधा सरल तरीका है जिसके ज़रिए विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्क साइट पर आप फ़िल्म देख सकेंगे.”

पाइरेसी का मसला

इसे फ़िल्म उद्योग के लिए बड़ा क़दम माना जा रहा है.लेकिन फ़िल्म स्टूडियो वालों के लिए जोखिम ये है कि फ़िल्म उद्योग का वही हश्र न हो जो संगीत उद्योग का हुआ है.

संगीत कंपनियों का कहना है कि ऑनलाइन पाइरेसी की वजह से उनकी आमदनी में ज़बरदस्त गिरावट आई है. फ़िल्म कंपनियों को भी इसी समस्या से जूझना पड़ रहा है.

फ़ेसबुक पर फ़िल्म दिखाने वाला वार्नर ब्रदर्स पहला बड़ा स्टूडियो है. अगर ये प्रयोग सफल रहता है तो बाकी स्टूडियो भी ऐसा कर सकते हैं.

कई कंपनियाँ हैं जो पहले से फ़िल्में स्ट्रीम करती हैं और फ़िल्म स्टूडियो के नए कदम का असर उन कंपनियों पर भी पड़ेगा.

फ़रवरी में अमेज़न ने प्राइम नाम की सुविधा शुरु की है जहाँ फ़िल्में दिखाई जाती हैं.

लेकिन फ़ेसबुक पर फ़िल्म दिखाने के फ़ैसले के बाद वार्नर ब्रदर्स ने ये सुनिश्चित किया है कि दुनिया भर में 50 करोड़ से ज़्यादा ऐसे लोगों को ये सुविधा मिलेगी जो फ़ेसबुक इस्तेमाल करते हैं.

संबंधित समाचार