खुल कर हंसें, अल्सर भगाएं

हंसी इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अल्सर के इलाज के लिए खून के प्रवाह को बढ़ाने की ज़रुरत होती है

अगर आपको अल्सर की बीमारी है, तो उसे दूर भगाने के लिए खुल कर हंसिए.

लीड्स यूनिवर्सिटी की एक टीम का कहना है कि आधुनिक तकनीक के बजाय अच्छा इलाज और हंसी मिलकर पैरों के अल्सर से मुक्ति दिला सकते हैं.

पैरों के अल्सर के इलाज के लिए ज़्यादातर अस्पताल और चिकित्सा सेवाएँ अल्ट्रासाउंड का इस्तेमाल करते हैं.

लेकिन पिछले पांच वर्षों में 337 मरीज़ों पर किए गए शोध में पाया गया कि ये तरीका बीमारी से जल्द उबरने के लिए उतना पुख़्ता नहीं है.

दिल से हंसें

लीड्स के शोधकर्ता प्रोफेसर आंद्रे नेल्सन का कहना है, “ऐसे मरीज़ों के इलाज के लिए उनके हृदय से पैरों तक खून के प्रवाह को बढ़ाने की ज़रुरत होती है. उसका बेहतरीन तरीका है शरीर में दबाव बढ़ाने के लिए पट्टी बांधना, व्यायाम और मरीज़ को बढ़िया खाने की सलाह देना. कोई माने या न माने लेकिन खुलकर हंसना भी अल्सर के मरीज़ों के लिए काफ़ी मददगार साबित हो सकता है क्योंकि हंसने से डायफ्रॉम हरकत में आता है जिससे कि पूरे शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ता है.”

इस शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने ऐसे मरीज़ों पर ध्यान दिया जिनके अल्सर के घाव छह महीनों से नहीं भरे थे.

शोध में पाया गया कि अल्सर के इलाज के लिए आम तौर पर इस्तेमाल होने वाले अल्ट्रासाउंड और कम्प्रेशन थेरेपी से अल्सर के घाव पर कुछ ख़ास फर्क नहीं पड़ता है.

संबंधित समाचार