जान बचाने के लिए कुतिया डाइटिंग पर

  • 11 अप्रैल 2011

जंक फ़ूड, मछली, चिप्स..ऐसा तैलीय और चटपटा खाना किसे अच्छा नहीं लगता. लेकिन ये खाना अपने साथ मोटापे जैसी स्वास्थ्य समस्याएँ भी लेकर आता है.

ब्रिटेन में ऐसा ही किस्सा सामने आया है लेकिन मोटापे का शिकार कोई व्यक्ति नहीं बल्कि एक कुतिया हुई है.

फ़िश, चिप्स और रोस्टिड भोज खा-खाकर केसी नाम की ये कुतिया ग़ज़ब मोटी हो गई है.

मोटापा इतना बढ़ गया है कि केसी की जान पर बन आई है. केसी को अब डाइटिंग करवाई जा रही है.

आठ साल की केसी का वज़न नौ स्टोन यानी करीब 57 किलोग्राम हो गया है जो उसकी नसल और उम्र के हिसाब से तीन गुना ज़्यादा है.

केसी अपनी बुजुर्ग़ मालकिन के साथ रहती थी लेकिन मालकिन के बीमार होने के बाद केसी को एक विशेष केंद्र में रखा गया है.

मोटापा इतना बढ़ गया है कि केसी कुछ क़दम तक ही चल पाती है. कुत्तों में जिस तरह की तेज़ी-फ़ुर्ती होती है वो अब केसी में नहीं रही. उसकी टाँगों पर नासूर भी हो गए हैं.

मोटापे से चलना हुआ मुश्किल

वॉरिकशायर में होनीले डॉग्स ट्रस्ट के डेनी मार्टिन कहते हैं, हम जानते हैं कि अगले कुछ महीनों में केसी को बहुत तकलीफ़ होने वाली है. उम्मीद करते हैं कि आने वाले महीनों में केसी का वज़न कुछ कम होगा और वो फिर से सक्रिय ज़िंदगी बिता सकेगी

जब केसी को कुछ हफ़्ते पहले विशेष केंद्र में लाया गया था तो उसका भार इतना ज़्यादा था कि उसके नीचे एक कंबल रखा जाता था ताकि खड़े होने में उसे मदद मिले.

वो गिनकर केवल 10 कदम ही चल पाती थी हालांकि अब केसी 20 क़दम चल लेती है.

डेनी मार्टिन बताते हैं कि उसे तरह-तरह का खाना खिलाकर इस क़दर मोटा कर दिया गया है कि केसी की जान जा सकती है.

डेनी कहते हैं कि जानवरों में मोटापे का इतना गंभीर किस्सा उन्होंने कम ही देखा है.

पर केसी की देखभाल करने वाले स्टाफ़ ने उम्मीद नहीं छोड़ी है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार