'पंखों के ज़रिए सेक्स को ना'

तितली इमेज कॉपीरइट JY IDE

कुछ तितलियां अपने जीवन काल में सिर्फ़ एक बार ही सेक्स की प्रकिया से गुज़रती हैं.

जापान में शोधकर्ताओं का कहना है कि तितलियां सेक्स को नज़रअंदाज़ करने के लिए अपने पंखों का सहारा लेती हैं.

ख़ुद को नर तितली की नज़र से बचाने का उनका तरीक़ा बड़ा अनोखा है .

इसके लिए मादा तितली अपने रंग बिरंगे चमकदार पंखों को सिकोड़ लेती है यानि उन्हें बंद कर लेती हैं.

जापानी शोधकर्ताओं के ये नतीजे ईथोलॉजी जर्नल में प्रकाशित हुए हैं.

फ़ुकुडु स्थित कुरूम इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नालॉजी के प्रमुख शोधकर्ता युन या इडे ने शोध के दौरान ये पाया कि ये मादा तितलियां उस समय अक्सर अपने पंखों को बंद कर लेती हैं जब दूसरी तितलियों का झुंड उनके आस पास से गुज़रता है.

युन या इडे का ये भी कहना था कि ये मादा तितलियां ऐसा एक रणनीति के तहत करती हैं और ऐसा वो इसलिए करती है ताकि वो नर तितलियों के शोषण से ख़ुद को बचा सकें.

शोधकर्ताओं ने इस प्रयोग के लिए नर तितली के एक मॉडल का इस्तेमाल किया और इसके बाद मादा तितलियों की प्रतिक्रिया का अध्ययन किया.

शोधकर्ता तितली के मॉडल को जब तितलियों के पास ले गए तो उन्होनें पाया कि मादा तितलियों ने अपने पंख बंद कर लिए.

दूसरी ओर ऐसी तितलियां जो कुँवारी थी, जिन्हें सहयोगी की तलाश थी, उन्होंने अपने पंखों को बंद नही किया. इसका मतलब ये है कि वो सेक्स की इच्छुक थीं.

संबंधित समाचार