सोनी नेटवर्क पर फिर साइबर हमला

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption सोनी कंपनी इस नए हमले की जाँच कर रही है

हैकरों के एक गुट ने दावा किया है कि उसने जापान की इलेक्ट्रॉनिक कंपनी सोनी नेटवर्क पर हमला करके दस लाख से अधिक पासवर्ड, ईमेल के पते और दूसरी सूचनाएँ चुरा ली हैं.

लल्ज़ सेक्युरिटी ने कहा है कि उसने सोनीपिक्चर्स डॉट कॉम के सर्वर पर हमला किया है.

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार सोनी ने कहा है कि उसे लल्ज़ सेक्युरिटी के बयान के बारे में जानकारी है और वह इस मामले की जाँच कर रहा है.

अभी अप्रैल में ही हैकरों ने सोनी के प्लेस्टेशन नेटवर्क पर हमला करके सात करोड़ 70 लाख सूचनाएँ चोरी कर ली थीं.

इसे इंटरनेट के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा हमला कहा गया था और इसकी वजह से सोनी को प्लेस्टेशन नेटवर्क और कुछ और सुविधाएँ लगभग एक महीने के लिए बंद करनी पड़ीं थीं.

कंपनी का कहना है कि हैकरों के इस हमले की वजह से उसे 17 करोड़ डॉलर तक का नुक़सान हो सकता है.

इसके बाद से सोनी कंपनी का नेटवर्क हैकरों के निशाने पर है. कंपनी का कहना है कि जिस हमले का दावा किया गया है उससे पहले भी चार बार सोनी पिक्टर्स पर हमला हो चुका है.

सोनी कंपनी ने अभी 24 घंटे पहले ही ये घोषणा की थी कि हैकरों के हमले के बाद आख़िरकार प्लेस्टेशन नेटवर्क पूरी तरह से काम करने लगा है.

उसने यूरोप और अमरीका में इसके शुरु होने की घोषणा के साथ कहा था कि इस बार नेटवर्क की सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

'चाहते थे कि ऐसा हो जाए'

अपने एक बयान में लल्ज़ सेक्युरिटी ने कहा है कि उसने सोनी के डेटाबेस पर हमला किया है और सोनी के ग्राहकों के 'अनइंक्रिप्टेड' नाम, ईमेल पते, जन्मतिथि और पासवर्ड चुरा लिए हैं.

उसने कहा है, "हमने एक बार नेटवर्क में घुसकर सब कुछ हासिल कर लिया. आप ऐसी किसी कंपनी पर विश्वास क्यों करते हैं जिसने अपने आपको ऐसे हमलों के लिए खुला छोड़ रखा है."

लल्ज़ ने कहा है, "सबसे बुरी बात ये है कि जितना डेटा हमने वहाँ से लिया है उनमें से कुछ भी इंक्रिप्टेड नहीं था. सोनी ने अपने ग्राहकों के दस लाख पासवर्ड को टेक्स्ट की तरह रखा हुआ था."

उसका कहना है, "ये असुरक्षित भी है और अशोभनीय भी, वे चाहते थे कि ऐसा हो जाए."

इस ग्रुप ने हाल ही में पीबीएस नेटवर्क पर भी हमले की ज़िम्मेदारी ली थी और इसके विरोध स्वरूप उन्होंने इसकी वेबसाइट पर विकीलीक्स से जुड़ी एक फ़र्ज़ी ख़बर भी पोस्ट कर दी थी.

संबंधित समाचार