निजी कंपनियों ने रखा अंतरिक्ष में कदम

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कई निजी कंपनियां अब अंतरिक्ष क्षेत्र में उतरने की तैयारी में हैं.

माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक पॉल एलैन का कहना है वो अंतरिक्ष में जाने वाले मालवाहक रॉकेट और मशीनी रुप से नियंत्रित होने वाले रॉकेट बनाएंगे.

‘स्ट्रैटोलॉंच सिस्टम’ नामक कंपनी के तहत काम कर रहे पॉल एलैन का कहना है कि ये भव्य रॉकेट और अंतरिक्ष यान नई तकनीक के ज़रिए सीधे अंतरिक्ष की कक्षा में रखे जाएंगे.

इस साल नासा की ओर से अपने तीस वर्ष पुराने अंतरिक्ष अभियान को समाप्त किए जाने के बाद अब कई निजी कंपनियां इस क्षेत्र में आगे आ रही हैं.

वर्जिन गैलैक्टिक नाम की एक कंपनी भी 2013 तक अंतरिक्ष की कक्षा में एक व्यावसायिक यात्राएं शुरु करने की कोशिश में है.

धन की कमी के चलते अमरीकी सरकार ने अंतरिक्ष क्षेत्र से पैर खींचने की घोषणा कर दी है. पॉल की यह परियोजना सिलीकॉन वैली में काम करने वाले उन कई उद्दोगपतियों की आकांक्षाओं को दर्शाती है जो अब इस क्षेत्र में उतरने की तैयारी में है.

'सपनों की शुरुआत'

जहां एक ओर नासा लॉंच पैड के ज़रिए रॉकेट अंतरिक्ष में उतारता है वहीं ‘स्ट्रैटोलॉंच सिस्टम’ अंतरिक्ष में उड़ने में सक्षम हवाई-जहाज़ों के ज़रिए सीधे रॉकेट कक्षा में उतारेगा.

माना जा रहा है कि इस तरह की पहली प्रयोगात्मक उड़ान 2016 में होगी. पॉल इस परियोजना पर पिछले दस साल से काम कर रहे हैं. कैलिफ़ोर्निया के मोजावे रेगिस्तान के बीच प्रयोग शुरु हो चुके हैं.

सिएटल में हुए एक संवाददाता सम्मेलन में पॉल ऐलेन ने कहा, ''जब मैं बेहद छोटा था तभी से अमरीका का अंतरिक्ष अभियान मेरे लिए प्रेरणा का स्रोत था. मैं इन चीज़ों के बारे में उत्साहित होने से खुद को कभी नहीं रोक पाता. ये मेरे लिए सपने देखने की शुरुात है.''

अंतरिक्ष विशेषज्ञों का मानना है कि निजी कंपनियों के इस क्षेत्र में उतरने से किफ़ायत और नई तकनीक दोनों में इज़ाफ़ा होगा.