घर पर, 20 मिनट में एचआईवी टेस्ट संभव होगा

एचआईवी इमेज कॉपीरइट s
Image caption अमरीका में लगभग 12 लाख लोग एचआईवी से ग्रस्त हैं

अमरीका में शोधकर्ता घर पर ही बैठकर 20 मिनट में एचआईवी वायरस टेस्ट कर पाने के करीब पहुँच गए हैं.

विशेषज्ञों की एक समिति ने कहा है कि ओराक्विक इन-होम के नाम वाला टेस्ट सुरक्षित और असरदार है. उन्होंने यह भी कहा कि इसकी संक्रमण रोकने की क्षमता, गलत परिणाम मिलने के खतरों से कहीं अधिक है.

इस साल उपभोक्ताओं के अधिकारों का बचाव और खाद्य पदार्थों- दवाओं के मानकों को तय करने वाली अमरीकी एजेंसी फूड एंड ड्रग एड्मिनिस्ट्रेशन (एफडीए) फैसला करेगी कि इस टेस्ट की इजाजत दी जाए या नहीं.

इसे बनाने वाली कंपनी के अनुसार 20 मिनट में परिणाम बताने वाला यह टेस्ट पॉजिटिव रिजल्ट्स के लिए 93 प्रतिशत सही पाया गया है जबकि निगेटिव मामलों में यह 99.8 प्रतिशत सही है.

अमरीका में लगभग 12 लाख लोग एचआईवी से ग्रस्त हैं जबकि हर साल वहाँ इसके 50,000 नए मामले सामने आते हैं.

एफडीए की एक विशेषज्ञ समिति पहले ही इस टेस्ट को इजाजत देने के पक्ष में 17-0 से फैसला कर चुकी है. समिति का मानना है कि इससे इस बीमारी से पीड़ित लोगों को स्वास्थ्य और सामाजिक सेवाएं मिल सकेंगी.

साठ डॉलर में होगा टेस्ट

उन्होंने इसे बनाने वाली पेनसिल्वेनिया की कंपनी ओराश्योर से अपील भी की कि वे इसके संभावित गलत नतीजों के बारे में स्पष्ट तौर पर प्रमुखता से दिखने वाली चेतावनी भी शामिल करें.

अमरीका के एड्स इंस्टीटयूट के उप निदेशक कार्ल शमिद ने समिति की स्वीकृति का स्वागत किया है.

उन्होंने समाचार एजेंसी एसोसियेटिड प्रेस को बताया, ''हम सदा नई सोच का स्वागत करते हैं और हम इसे भी उसी श्रेणी में मानते हैं. इससे न केवल संक्रमण घटाने में मदद मिलेगी बल्कि इससे ज्यादा लोगों का इलाज और देखभाल संभव हो पाएगी.''

एफडीए के लिए इस समिति के परिणाम और सिफारिश मानना अनिवार्य नहीं है हालाँकि आम तौर पर वे समिति की सिफारिशों को मानते हैं.

ओराश्योर का कहना है कि यह टेस्ट घर पर 60 डॉलर से कम कीमत पर हो सकेगा.

संबंधित समाचार