पहला निजी अंतरिक्ष यान अंतरिक्ष रवाना

Image caption अमरीकी कंपनी स्पेस एक्स के यान ड्रैगन को फ्लोरिडा से तड़के एक रॉकेट से रवाना किया गया

अमरीकी राज्य कैलिफोर्निया की एक कंपनी स्पेस एक्स का एक मानवरहित यान अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना हो गया है. वहाँ सामान पहुँचाने के लिए जानेवाला ये पहला निजी यान है.

स्पेस एक्स का एक रॉकेट - फ़ाल्कन 9 - ड्रैगन को लेकर अमरीका के फ्लोरिडा राज्य में स्थित केप केनेवरल एयर फोर्स स्टेशन से रवाना हुआ.

10 मिनट में धरती से 340 किलोमीटर की ऊंचाई पर जाकर इसने ड्रैगन को अंतरिक्ष स्टेशन जाने के लिए अलग कर दिया.

ड्रैगन को स्टेशन पर पहुंचने में दो दिनों का समय लगेगा. शुरुआती दौर में इस यान को अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (आईएसएस) से ढाई किलोमीटर की दूरी से मंगलवार को दिशा निर्देश के अलावा नियत्रंण और संचार को नियंत्रित करना होगा.

अगर ड्रैगन सही ढंग से काम करता रहा तो शुक्रवार को उसे 400 किलोमीटर ऊपर स्थित स्टेशन के दस मीटर के दायरे में ले जाया जाएगा.

इसके बाद इसे प्लेटफार्म में मौजूद अंतरिक्ष यात्री उसे रोबोट चालित हाथों से पकड़कर स्टेशन से जोड़ देंगे.

वापसी

इमेज कॉपीरइट
Image caption अगर अभियान सफल रहा तो नासा बचे हुए धन का इस्तेमाल दूसरे उपग्रहों पर करेगा

ड्रैगन इस महीने के अंत में लौटेगा. इससे पहले उससे भेजे गए मौजूद 500 किलोग्राम वजन का खाद्य पदार्थ, जल और उपकरणों को स्टेशन पर उतार लिया जाएगा.

इस मिशन की सफलता से अमरीका काफी उत्साहित है क्योंकि अगर यह मिशन सफल होता है तो अमरीका अपने अंतरिक्ष अभियान में जबर्दस्त परिवर्तन लेकर आएगा.

नासा कुछ बड़े एंजेसियों की तरह ऐसी योजना बना रहा है जिससे कि रूटीन अंतरिक्ष मानवयान को लगातार उसी तरह भेजता रहे जिस तरह आईटी या पेरॉल की कंपनियां निम्न जमीनी कक्षा से भेजते रहते हैं.

यह एक महत्वपूर्ण अभियान है क्योंकि पहली बार कोई निजी यान विभिन्न प्रकार के सामान लेकर अंतरिक्ष स्टेशन रवाना हुआ है.

स्पेस एक्स के यान की उड़ान को वैसे एक प्रायोगिक प्रदर्शन कहा जा रहा है मगर ये अभियान अमरीका के आगामी मानव अंतरिक्ष अभियानों को जारी रखने की दिशा में एक बड़े परिवर्तन को चिह्नित कर देगा.

अमरीकी एजेंसी को आशा है कि इस परिवर्तन से पैसे की काफी बचत होगी और बचे हुए पैसे का इस्तेमाल धरती से इतर अंतरिक्ष पर चल रहे दूसरे शोध में लगाया जा सकता है जिसमें मंगल ग्रह भी शामिल हैं.

नई तकनीकि

स्पेस एक्स में अनेक नई तकनीक का प्रयोग किया गया है जो आने वाले दिनों में दिखाई पड़ेगा और जिससे बहुत ज्यादा अपेक्षा भी नहीं की जा रही है.

नासा ने कैलिफॉर्निया स्थित कंपनी को बहुत से महत्वपूर्ण काम करने को कहा है.

जब उन सभी काम को वह कर लेगा तो उन्हें 1.6 बिलियन अमरीकी डॉलर का ठेका दिया जाएगा.

नासा एक दूसरे कार्गो पार्टनर की भी तलाश कर रहा है. वर्जीनिया की कंपनी ऑरबिटल साइंस कॉरपोरेशन स्पेस एक्स से थोड़ा ही पीछे है.

दूसरी कंपनी इस साल बाद अपने ऐन्टारेस रॉकेट से साइग्नस नामक यान को अंतरिक्ष स्टेशन भेजने की तैयारी कर रही है.

इस अंतरिक्ष यान को इस साल के अंत तक या अगले साल के शुरु में छोड़ा जा सकता है.

संबंधित समाचार