गूगल मैप के नए संस्करण में 3डी चित्र

गूगल मैप के नए संस्करण की जानकारी देते ब्रायन मैक्लेंडन इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption गूगल मैप के नए संस्करण की जानकारी देते ब्रायन मैक्लेंडन

इंटरनेट की बड़ी कंपनी गूगल ने एक नई मानचित्र टेक्नोलॉजी को बाज़ार में उतारने की घोषणा की है. गूगल के पास पहले से ही गूगल मैप्स नाम की सेवा है और कंपनी का दावा है कि उनके मानचित्रों का प्रयोग एक अरब लोग करते हैं.

लेकिन हाल के दिनों में गूगल मैप्स को कई प्रमुख अधिकारी छोड़कर चले गए हैं.

ऐसी भी खबरें हैं कि अगले सप्ताह एप्पल अपने प्लेटफॉर्म पर गूगल मैप्स का प्रयोग बंद कर देगा. इन खबरों के अनुसार एप्पल गूगल मैप्स की जगह अपने स्मार्ट फोन और टैबलेट पर खुद कि मैपिंग तकनीक लांच करने जा रहा है.

इसी संभावना की नज़र में गूगल के अधिकारियों ने बुधवार को अमरीका के सेन फ्रेंस्सिको में अपनी नई मानचित्र तकनीक का प्रदर्शन किया है.

नई तकनीक

नए गूगल मैप में 3डी फीचर हैं और साथ ही स्ट्रीट व्यू यानि गलियों के विस्तृत नक्शों को और बेहतर बनाया गया है. साथ ही स्मार्ट फोन के लिए बिना इंटरनेट कनेक्शन के गूगल मैप मुहैया करवाने का भी प्रावधान है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption 3डी इमेज के साथ है गूगल मैप का नया संस्करण

गूगल में इंजीनियरिंग के उपाध्यक्ष ब्रायन मैकक्लेडन ने कहा है कि ये सिर्फ़ घर का रास्ता खोजने की तकनीक भर नहीं है.

गूगल इमेजरी नाम की इस नई तकनीक को अब तक की सबसे परिष्कृत कोशिश माना जा रहा है.

दरअसल गूगल ने इस नई मानचित्र प्रणाली के विकास के लिए वायु यानों का एक पूरा बेड़ा किराए पर लिया था.

गूगल मैप्स के प्रोग्राम मैनेजर पीटर बर्च ने कहा कि वो एक जादूई चीज़ बना रहे हैं और उन्होंने इसकी तुलना सुपरमैन से की.

उन्होंने कहा, “ये लगभग ऐसा है कि आप एक निजी हेलीकॉप्टन में शहर के ऊपर चक्कर लगा रहे हों.”

पीटर बर्च ने बीबीसी को बताया कि कुछ ही हफ़्तों में ये सेवा ऐंड्रॉयड और अन्य स्मार्ट फोनों पर उपलब्ध होगी.

हालांकि गूगल के अधिकारियों ने एप्पल की ओर से किसी संभावित चुनौती पर टिप्पणी करने से मना किया और कहा कि एप्पल उनका अहम सहयोगी है.

संबंधित समाचार