डॉक्टरों ने भ्रूण से ट्यूमर निकाला

शल्य चिकित्सकों ने एक ऐसे ऑपरेशन को अंजाम दिया है, जिसमें उन्होंने भ्रूण के मुंह से एक ट्यूमर को निकालने में सफलता हासिल की है.

17 हफ्तों की गर्भवती महिला टैमी गॉन्ज़ालेज़ ने जब स्कैन कराया तो उन्होंने अजन्में शिशु के मुंह से एक बुलबुले को बाहर आते देखा.

डॉक्टरों का कहना है कि ये एक बेहद दुर्लभ किस्म का ट्यूमर था, जिसमें इस गर्भस्थ शिशु के ज़िदा बचने की उन्मीद काफी कम थी.

लेकिन डॉक्टरों ने न सिर्फ इसका सफल ऑपरेशन किया बल्कि पाँच महीने बाद इस बच्ची का जन्म भी हुआ.

दुर्लभ किस्म का ट्यूमर

फ्लोरिडा के जैक्सन मेमोरियल अस्पताल के डॉक्टरों का कहना था कि इस तरह का ट्यूमर इतना दुर्लभ है कि ये 20 सालों के अस्पताल के इतिहास में सिर्फ एक बार ही दिखाई दिया है.

ऑपरेशन की प्रक्रिया में पहले टैमी गॉन्ज़ालेज़ को पहले निश्चेतक का इस्तेमाल किया गया और ऑपरेशन की जगह को सुन्न कर दिया गया.

इसके बाद एक सुई के जरिए उस झिल्ली यानि आवरण तक पहुँचा गया , जिसमें भ्रूण सुरक्षित रहता है

ट्यूमर को शिशु के होठों से अलग करने के लिए लेज़र किरणों का इस्तेमाल किया.

इस ऑपरेशन में सिर्फ आधे घंटे का वक्त लगा.

जीवनरक्षक ऑपरेशन

टैमी गॉन्ज़ालेज़ ने मियामी में एक संवाददाता सम्मेलन में बताया,"आखिरकार डॉक्टरों ने पूरी तरह से इस ट्यूमर को काट कर अलग कर दिया. मैं इसे तैरते हुए देख सकती थी. इस ट्यूमर का वजन काफी था, अब मैं अपनी बच्ची का चेहरा साफ देख सकती थी."

टैमी गॉन्ज़ालेज़ का कहना था कि सर्जन की टीम ने जीवन रक्षक का काम किया है.

ऑपरेशन के पाँच महीने बाद अक्टूबर 2010 में पैदा हुई इस बच्ची का नाम लियाना है और अब ये 20 महीने की स्वस्थ बच्ची है.

बस इस बच्ची के मुंह पर इस सर्जरी का एक छोटा सा निशान बाकी है.

इस ऑपरेशन के बारे में अमेरिकन जर्नल ऑफ ऑब्सटैट्रिक्स एंड गॉयनकालॉजी में छपा है.

संबंधित समाचार