ग्रीनलैंड के ग्लेशियर से टूटा विशाल हिमशैल

  • 19 जुलाई 2012
Image caption टूटे हिमशैल की उपग्रह से ली गई तस्वीर

वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तरी ग्रीनलैंड के पीटरमान ग्लेशियर से एक आइसबर्ग यानि हिमशैल टूट कर अलग हो गया है जिसका आकार अमरीका में न्यूयॉर्क के मैनहटन क्षेत्र से दोगुना है.

नासा के एक उपग्रह से ली गई तस्वीरों से विशाल हिमशैल के टूटने का पता चलता है.

साल 2010 में 250 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल का एक हिमशैल इसी ग्लेशियर से टूटकर अलग हो गया था.

ग्लेशियरों से हिमशैल प्राकृतिक रूप से टूटकर अलग हो जाते हैं लेकिन पीटरमान ग्लेशियर में हाल के वर्षों में जो बदलाव हुए हैं उससे कई विशेषज्ञ आश्चर्यचकित हैं.

'150 साल में ऐसा नहीं हुआ'

नासा से जुड़े एरिक रिगनॉट ने एक बयान में कहा है, ''ये महज हिमशैल के टूटकर अलग होने की नहीं, बल्कि ये एक महत्वपूर्ण घटना है.''

डेलावेयर विश्वविद्यालय के एंड्रियास म्युएनचाउ ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया, ''ये नाटकीय है और परेशान करनेवाली बात है. हमारे पास पिछले 150 साल के आंकड़े हैं और जो बदलाव हम देख रहे हैं वैसा पहले नहीं हुआ है.''

बहरहाल, हिमशैल के टूटकर तैरने की घटना का समुद्र के जलस्तर पर असर पड़ेगा. कनाडा की आइस सेवा का कहना है कि कभी-कभी पीटरमान ग्लेशियर से टूटकर अलग हुआ हिमशैल बहकर कनाडा के न्यूफाउंडलैंड तट तक जा पहुंचता है जिससे नौवहन के लिए समस्या पैदा हो जाती है.

हाल के वर्षों में वैज्ञानिकों ने ग्रीनलैंड की बर्फ को लेकर चिंता जताई है.

उनका कहना है कि गर्म तापमान की वजह है ग्रीनलैंड की बर्फ लगातार कम होती जा रही है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार