‘सार्स’ जैसा नया वायरस सामने आया

 सोमवार, 24 सितंबर, 2012 को 19:51 IST तक के समाचार

साल 2003 में सार्स वायरस काफ़ी फैला था, जिसकी वजह से सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी. साँस से जुड़ी एक ऐसी ही बीमारी अब सामने आई है. ब्रिटेन में इसके मरीज़ का इलाज हो रहा है.

क़तर से हवाई एंबुलेंस के ज़रिए इस 49 वर्षीय व्यक्ति को लंदन के एक अस्पताल पहुँचाया गया. वैसे कोरोनावायरस से पीड़ित अब तक का ये दूसरा व्यक्ति है.

पहला मरीज़ सऊदी अरब में था और उस व्यक्ति की मौत हो चुकी है.

अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि ये वायरस किस तरह का खतरा पेश कर सकता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अभी तक कोई यात्रा संबधी चेतावनी जारी नहीं की है.

"पाई गई बिमारी की गंभीरता को देखते हुए ये सुनिश्चित करने के कदम उठाए जा रहे हैं कि ब्रिटेन में जिन लोगों के संपर्क में वो दो मरीज़ आए हैं उन पर इस बिमारी का असर ना हो."

प्रोफेसर जॉन वॉट्सन

ब्रिटेन की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी में सांस से जुड़ी बीमारियों के विभाग में प्रोफेसर जॉन वॉट्सन ने कहा, “दो पुख्ता मामलों में पाई गई बीमारी की गंभीरता को देखते हुए ये सुनिश्चित करने के तुरंत कदम उठाए जा रहे हैं कि ब्रिटेन में जिन लोगों के संपर्क में वो दो मरीज़ आए हैं उन पर इस बीमारी का असर ना हो और ना ही अभी तक ऐसे कोई संकेत मिले है.”

इस मामले में और जानकारी हासिल करने और इस वायरस के प्रति अधिक चौकन्ना रहने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.

प्रोफेसर जॉन वॉट्सन कहते हैं कि अभी इस बात के सुबूत नहीं मिले हैं कि ये वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में फैल रहा हैं और अभी कोई भी यात्रा संबधी चेतावनी जारी नहीं की गई है

लंदन के इंपीरियल कॉलेज में सांस संबधी बीमारियों के केन्द्र के निर्देशक पीटर ऑपनशॉ ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि ये नए तरह का वायरस अभी तो किसी चिंता का विषय नहीं लगता और हो सकता है कि सघन जांच प्रणाली की वजह ही ये सामने आ पाया है.

कोरोनावायरस बडे वायरस परिवार का हिस्सा है जिसमें आम सर्दी-जुकाम और सार्स वायरस जैसे वायरस शामिल है. इंसानों में पाए जाने वाले कोरोनावायरस से ये वायरस अलग है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.