मैसेंजर बंद लेकिन अब कॉन्टैक्ट लिस्ट का क्या होगा?

  • 7 नवंबर 2012
Image caption विंडोज़ मैसेंजर के यूज़र घट रहे थे

माइक्रोसॉफ्ट ने एक बड़ा फैसला करते हुए अपने इंस्टैंट मैसेजिंग टूल मैंसेंजर को रिटायर करने का फैसला किया है.

अब माइक्रोसॉफ्ट इसके स्थान पर स्काइप का मैसेंजर इस्तेमाल करेगा.

इंस्टैंट मैसेजिंग की दुनिया में मैंसेंजर सबसे ज्यादा लोकप्रिय है.

माइक्रोसॉफ्ट ने करीब 18 महीने पहले घोषणा की थी कि वो इसे मैंसेजर के लिए स्काइप को साढ़े आठ अरब डॉलर की राशि देगा.

कंपनी का यह कदम दर्शाता है कि वो स्काइप को लेकर कितनी गंभीर है.

बदलाव

कंपनी के अनुसार ये बदलाव स्काइप 6.0 के मैक और विंडोज़ के संस्करण पर आने के बाद संभव हो पाया है.

इस प्रणाली की मदद से अब यूसर माइक्रोसॉफ्ट के ज़रिए स्काइप पर रजिस्टर कर सकते हैं और इससे मैंसेंजर के कॉटेक्ट स्काइप पर नज़र आ जाएंगे.

लातिन अमरीका में स्काइप के मार्किट डेवलपमेंट मैनेजर अलजांद्रो अरनेज़ का कहना है, ''हम आने वाले महीनों में यूसर्स के साथ काम करेंगे ताकि इस बदलाव के दौर में हम उनकी मदद कर सकें, हम उन्हें इससे संबंधित सभी जानकारी देंगे और उनकी मदद करते रहेंगे.''

अरनेज़ का कहना है, ''हमारा मकसद सभी को कहीं भी संचार के बेहतरीन साधन उपलब्ध कराना है.''

उनका कहना है, ''हमारी कोशिश यूसर्स के लिए चीज़ों को आसान करने पर केंद्रित है साथ ही इसके इस्तेमाल के अनुभव यूसर्स के लिए आसान करना चाहते हैं.''

मैसेंजर का युग

विंडोज़ लाइव मैंसजर की शुरुआत 1999 में हुई थी जिसका इस्तेमाल कार्यालयों में व्यापक तौर पर किया जाता है.

इसे शुरु में एमएसएऩ मैसेंजर के रुप में जाना जाता था. इसके ज़रिए आगे चलकर मैसेज के अलावा फोटो, वीडियो, वीडियो कॉल और गेम्स भेजने का विकल्प जोड़ा गया था.

इंटरनेट आकड़ों का विश्लेषण करने वाली फर्म कॉमस्कोर के अनुसार स्काइप की तुलना में विंडो मैंसेजर अभी भी अधिक लोकप्रिय है और बाज़ार में याहू के बाद दूसरे नंबर पर है. इतना ही नहीं विंडो मैसेंजर में स्काइप की तुलना में सुविधाएं भी अधिक हैं.

तुलना

हालांकि रिपोर्टो के अनुसार विंडो मैसेंजर का इस्तेमाल करने वालों की संख्या में कमी आई है और इसके करीब 80 लाख यूज़र कम हुए हैं जो कि एक साल में 48 प्रतिशत की कमी है. दूसरी तरफ स्काइप का इस्तेमाल करने वालों की संख्या बहुत बढ़ी है.

कंसल्टेंसी फर्म गार्टनर के ब्रायन ब्लाउ कहते हैं, ‘‘जब कोई कंपनी दो उत्पाद बेचती है जिसका काम एक ही हो तो अच्छा यही होता है कि एक ही उत्पाद बेचा जाए.’’

वो कहते हैं कि विंडो मैसेंजर टीवी और एक्सबॉक्स कंसोल के लिए बहुत सही प्लेटफॉर्म नहीं है जबकि स्काइप इसके लिए बिल्कुल सटीक दिखता है.

ऐसा माना जा रहा है कि विंडो मैसेंजर से स्काइप में लोगों को लाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट यह सुविधा देगा कि लोगों के विंडो मैसेंजर के संपर्क स्काइप में लाए जा सकें ताकि लोग विंडो मैसेंजर से हटें तो गूगल या अन्य किसी मैसेंजर पर न जाएं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार