मछलियों को भाते हैं समलैंगिक नर साथी

 शुक्रवार, 14 दिसंबर, 2012 को 12:41 IST तक के समाचार
मछलियाँ

समलैंगिक नर साथियों में मादा के आकर्षित होने की प्रवृत्ति कई प्रजातियों में पाई गई है

एक शोध में पाया गया है कि मादा मछलियाँ उन नर मछलियों की ओर ज्यादा आकर्षित होती हैं जो कि समलैंगिक होती हैं.

जर्मनी के वैज्ञानिकों ने गर्म प्रदेशों में पाई जाने वाली अटलांटिक मॉलीज़ नामक मछलियों के व्यवहार का अध्ययन करने के बाद ये संभावना जताई है.

ऐसा देखा गया कि मादा मछलियाँ उन नर मछलियों की नकल करने की कोशिश करती हैं जिन्हें वो नर मछलियों के साथ संबंध बनाते हुए देखती हैं.

"हम लोग ये देखकर आश्चर्यचकित रह गए जब समलैंगिक नर साथी भी मादा को उसी तरह प्रभावित करते हैं जैसे कि विषमलिंगी."

डॉक्टर डेविड बायरबैक, शोधकर्ता

शोधकर्ताओं ने पाया कि ये मछलियाँ उन नर मछलियों में ज्यादा दिलचस्पी दिखाती हैं जो कि अन्य नर मछलियों के साथ 'फ़्लर्ट' करती हैं.

जर्मनी के फ्रैंकफर्ट विश्वविद्यालय के डॉक्टर डेविड बायरबैक के नेतृत्व में हुआ ये शोध रॉयल सोसायटी के जर्नल बायोलॉजी लेटर्स में प्रकाशित हुआ है.

इस शोध पत्र में वैज्ञानिकों ने जंतु जगत में समलैंगिक व्यवहारों को एक पहेली के तौर पर रेखांकित किया है.

इसमें लिखा गया है, “नर समलैंगिक व्यवहार जंतु जगत की ज्यादातर मौजूदा प्रजातियों में देखा जा सकता है, लेकिन यदि डार्विन के सिद्धांत पर गौर किया जाए तो नर की प्रजनन क्षमता कमजोर पड़ने लगती है.”

हालांकि जंतु जगत की ऐसी प्रजातियां जिनमें नर समलैंगिक होते हैं, अक्सर उन्हें मादा साथियों के साथ भी संबंध बनाते देखा गया है. इस तरह के उदाहरण पेंगुइन और बोनोबोस में आमतौर पर देखा जा सकता है.

आनुवांशिक

जीव वैज्ञानिकों का कहना है कि इस तरह के क्रियाकलापों का आनुवांशिक संबंध भी हो सकता है.

मछलियाँ

वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी ये कहना मुश्किल है कि मछलियों की दूसरी प्रजातियों में ये प्रवृत्ति कितनी व्यापक है

अटलांटिक मॉली मछलियों में जननांगों के पास के छिद्र पर हल्की सी चुभन देना अपने साथी को सेक्स के लिए तैयार करने का संकेत होता है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि इस तरह का व्यवहार साथियों की क्षमता को दिखाता है क्योंकि उनके परिश्रम का स्तर ही वास्तव में उनके स्वास्थ्य और उनकी क्षमता का सूचक होता है.

हालांकि इस प्रजाति की मछलियों की नर प्रजातियों की विशेषता ये है कि ये नर और मादा दोनों के ही जननांगों पर जोर-आजमाइश करते हैं.

डॉक्टर डेविड बायरबैक कहते हैं, “हम लोग ये देखकर आश्चर्यचकित रह गए जब समलैंगिक नर साथी भी मादा को उसी तरह प्रभावित करते हैं जैसे कि विषमलिंगी.”

डॉक्टर बायरबैक कहते हैं कि हम ये नहीं जानते कि मछलियों की ये प्रवृत्ति कितनी व्यापक है, लेकिन अभी तक ये प्रवृत्ति कई प्रजातियों में देखी जा चुकी है. इन प्रजातियों में मधु मक्खियाँ, कुछ अन्य मछलियाँ, पक्षी और मनुष्य समेत कई स्तनधारी भी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.