सच होने जा रहा है उड़ने वाली कार का सपना

Image caption टेराफ्यूगिया कार उड़ने की तैयारी में अपने पंख फैलाते हुए.

हेनरी फ़ोर्ड ने 1940 में कहा था, "मेरे शब्दों को याद रखिए, हवाई जहाज़ और मोटरकार का मिलाजुला रूप आने वाला है. आप हंस सकते हैं, लेकिन ऐसा होगा."

इसके ठीक नौ वर्ष बाद मॉल्टन टेलर ने अपनी एयरकार का डिज़ाइन तैयार कर और उसे उड़ाकर फ़ोर्ड की काल्पनिक अवधारणा की व्यावहारिकता को साबित किया.

लेकिन अब तक केवल तीन मॉडल बनाए गए हैं और एक ऐसे व्यावहारिक वाहन का सपना अधूरा ही रहा जो सड़क पर फ़र्राटा भरने के साथ हवा में भी उड़ सके.

आज तकनीकी विकास के चलते ऐसे हवाई जहाज़ बनाए जा सकते हैं जो पास आती किसी वस्तु का अनुभव कर अपना बचाव कर सकते हैं.

इसके साथ ही कंप्यूटर आधारित डिज़ाइन और मेटेरियल साइंस के विकास के कारण सुरक्षा अधिकारी फ़्लाइंग कार को पूरी तरह से मंज़ूरी देने पर विचार कर रहे हैं.

बाधाएं

Image caption 1949 में बनी मॉलटन टेलर की एयरोकार.

अमरीकी प्रायोगिक वायुयान संघ के प्रवक्ता डिक नैपिंस्की ने बताया, "हालांकि राइट ब्रदर्स और हेनरी फ़ोर्ड ने हवाई जहाज़ और कार को एक करने का सपना देखा था, लेकिन इंजीनियरिंग, नियामक और सांस्कृतिक अड़चनें हमेशा से बाधक बनी रहीं."

उन्होंने कहा, "अब हम वास्तव में इस सपने के सच होने के नज़दीक हैं."

उदाहरण के लिए इस साल जुलाई में बोस्टन स्थित कंपनी टेराफ़्यूगिया ने प्रायोगिक वायुयान संघ के एयरवेंचर कार्यक्रम में सड़क पर चलने वाले हवाई जहाज को प्रदर्शित किया.

प्रमाणपत्र

Image caption एयरोमोबिल 2.5 का प्रोटोटाइप, जिसने अक्टूबर में पहली उड़ान भरी.

टेराफ़्यूगिया के कारोबार विकास के उपाध्यक्ष रिचर्ड गर्श ने कहा कि, "हमें एफ़एए (अमरीकी फ़ेडरल एविएशन अथॉरिटी) से प्रायोगिक उड़ान योग्यता प्रमाणपत्र मिला है, जिसका अर्थ है कि हमें अभी आबादी वाले इलाकों से दूर रहना होगा."

उन्होंने कहा कि पूर्ण प्रमाणपत्र हासिल करने की दिशा में काम तय योजना के मुताबिक चल रहा है.

गर्श कहते हैं कि, "हम यह नहीं कह रहे हैं कि ये पारिवारिक कार की जगह ले लेगा, और आपको हमेशा किसी एयरपोर्ट से ही उड़ान भरनी होगी, लेकिन इसके जरिए आप एयरपोर्ट तक ड्राइव करते हुए जा सकते हैं."

बस दो साल का इंतजार

Image caption सड़क पर भी दौड़ने में सक्षम विमान टेराफ्यूगिया ट्रांजिशन के अंदर कॉकपिट का दृश्य.

कंपनी को उम्मीद है कि वह दो साल के भीतर इसकी बिक्री शुरू कर देगी, हालांकि ये इस बात पर निर्भर करेगा कि सुरक्षा प्रमाणपत्र मिलने में कितना समय लगता है. इस विमान की कीमत करीब 2.80 लाख डॉलर होगी.

गर्श ने बताया कि कंपनी को पहले ही 100 से अधिक आर्डर मिल चुके हैं.

एफ़एए के प्रवक्ता लेस डोर ने बीबीसी को बताया कि, "अगर किसी फ़्लाइंग कार को अमरीका की सड़कों पर फ़र्राटा भरना है तो उस वाहन को अमरीकी परिवहन विभाग के एक कार के लिए तय मानकों के साथ ही एक वायुयान के लिए तय मानकों पर भी खरा उतरना होगा."

उन्होंने बताया, "टेराफ़्यूगिया अमरीका की एक मात्र वायुयान परियोजना है जिसे एफ़एए और एनएचटीएसए (राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात सुरक्षा प्राधिकरण) दोनों से प्रमाणपत्र हासिल करना होगा."

उन्नत संस्करण

Image caption चार लोगों के बैठने की जगह वाली इलेक्ट्रिक हाब्रिड कार, कॉन्सेप्ट क्रॉफ्ट- दि टीएफ-एक्स, उर्ध्वाधर उड़ान भरने में सक्षम है.

भविष्य को देखते हुए टेराफ़्यूगिया की कॉन्सेप्ट कार, द टीएफ-एक्स को उर्ध्वाधर उड़ान भरने में सक्षम बनाया जा रहा है.

इंजन के ख़राब होने की दशा में इसमें एक पूर्ण पैराशूट प्रणाली और अगर पायलट अक्षम हो जाए तो इसमें ऑटो-लैंडिंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी.

लेकिन गर्श का अनुमान है कि टीएफ़-एक्स के सपने को हकीकत बनने में करीब आठ से 10 साल का समय लगेगा.

अमरीका के एक अन्य संस्थान इंडीजेनस पीपुल्स टेक्नालॉजी एंड एडूकेशन सेंटर (आई-टेक) ने मैवेरिक एलएसए का विकास किया है. यह एक छोटी गाड़ी है जो रियर प्रोपेलर और पैराशूट की मदद से उड़ान भर सकती है.

इसका विकास बियॉन्ड रोड्स ने दुर्गम इलाकों में पहुंचने के लिए किया है.

फिल्म से मिली प्रेरणा

स्लोवाकियाई फर्म एयरोमोबाइल के सह-संस्थापक और मुख्य डिज़ाइनर स्टीफ़ेन क्लेन ने बचपन में एक फ़्रांसीसी फिल्म फैंटोमास से डिचेन देखी थी. इसके बाद ही उन्हें उड़ने वाली कार का विचार आया. वह एकेडेमी ऑफ़ फ़ाइन आर्ट्स एंड डिज़ाइन में ऑडी, फॉक्स वैगन और बीएमडब्ल्यू की शोध परियोजनाओं के प्रमुख हैं और पिछले 20 वर्षों से अपने सपने को सच करने में जुटे हुए हैं.

एयरोमोबाइल की प्रवक्ता तातियाना वेबेरोवा ने स्वीकार किया, "हमने प्रमाणपत्र हासिल करने की राह में खड़ी समस्याओं को दूर करने की कोशिश शुरू ही की है. अभी हमें लंबा सफर तय करना है."

उन्होंने बताया कि प्रोटोटाइप के 2014 तक तैयार होने का अनुमान है और कंपनी अमेरिका में नियामक मंज़ूरियों के लिए प्रयास करेगी.

तो क्या अब हमारी मोटर कारें हवा में उड़ने के लिए तैयार हैं?

ईएए के नैपिन्सकी कहते हैं कि "लोग अभी भी उड़ने से डरते हैं. इसे लेकर रहस्य बना हुआ है. यह भी एक पहलू है.''

संबंधित समाचार