नकली वोदका से ज़रा बचके रहें, वरना...

वोदका
Image caption नकली वोदका ब्रिटेन में एक समस्या के तौर पर उभर रही है

क्रिससम या नए साल के लिए ख़रीददारी करने के चक्कर में कई लोग नकली शराब खरीदने से भी नहीं हिचकते हैं लेकिन इसका सेहत पर बहुत ख़राब असर पड़ सकता है.

जानकारों का कहना है कि इसमें क्लोरोफ़ॉर्म जैसे कई रासायनिक हो सकते हैं जो न सिर्फ़ आंखों के लिए नुक़सानदेह है बल्कि कई बार इनके चलते जान तक जा सकती है.

ब्रिटेन के कुछ हिस्सों में पिछले एक साल दौरान ज़ब्त की जाने वाली नकली वोदका की मात्रा दोगुनी हो गई है.

कई नाइट क्लबों में नकली वोदका आसानी से मिल जाती है.

ब्रिटेन की शेफ़ील्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले एलेक्स कोहनर्ट कहते हैं, "मेरे कई दोस्त हैं जिन्हें नकली वोदका की वजह से न सिर्फ़ कुछ समय के लिए देखने में समस्या हुई, बल्कि उन्हें पेट दर्द भी हुआ."

एलेक्स भी मानते हैं कि उन्होंने कई बार ऐसी नकली वोदका ख़रीदी है.

नकली शराब के नुक़सान

शेफ़ील्ड में व्यापारिक मानक विभाग के कर्मचारी इस समस्या को लेकर बहुत गंभीर हैं.

इस साल अप्रैल से लेकर अब तक उन्होंने 2300 नकली शराब की बोतलें बरामद की हैं जिनमें से ज़्यादातर वोदका की थी. ये मात्रा पिछले साल के मुक़ाबले दोगुनी है.

ब्रिटेन के व्यापारिक मानक विभाग 'ट्रेडिंग स्टैंडर्ड' से इयान एशमोर कहते हैं, "नकली शराब आम तौर पर अपराधी तत्व तैयार करते हैं. उन्हें इस बात की कोई परवाह नहीं है कि इसे पीने वालों का क्या हाल होगा. तो इसमें कुछ भी शामिल हो सकता है."

डॉक्टरों का कहना है कि किसी भी तरह की वो नकली शराब खतरनाक है जिसमें मैथेनोल मिला हो.

'ड्रिंकएवेयर' नाम के संगठन में सलाहकार डॉ. सारा जारविस का कहना है कि नकली शराब से तंत्रिका तंत्र को नुकसान हो सकता है जो बाद में चलकर पारकिंसन जैसी बीमारी की वजह बन सकती है.

उन्होंने कहा, "आप की नज़र भी जा सकती है. हो सकता है कि आप सामान्य व्यक्ति की तरह न चल पाएं. आप अपनी जान से भी हाथ धो सकते हैं."

नकली कैसे पहचानें

कई बार नकली शराब को पहचानना भी मुश्किल होता है क्योंकि बनाने वाले उसे असली दिखाने में कोई कसर बाक़ी नहीं छोड़ते हैं. लेकिन कई बार क़ीमत के ज़रिए नकली चीज़ को पहचाना जा सकता है.

Image caption नकली वोदका का सेहत पर ख़राब असर पड़ता है

ट्रेडिंग स्टैंडर्ड के केन वेब का कहना है, "अगर वोदका की कोई बोलत साढ़े नौ पाउंड से कम कीमत पर मिल रही होगी, तो मुझे शक होगा."

जानकार नकली शराब से बचने के लिए कुछ बातों पर अमल करने की सलाह देते हैं.

इनमें सबसे पहले है कि शराब किसी प्रतिष्ठित जगह से ही ख़रीदें, अगर वो कुछ ज़्यादा ही सस्ती मिल रही है तो सावधान हो जाए.

इसके अलावा उसके लेबल को ध्यान से देखें और अगर उसमें किसी तरह अजीब गंध महसूस करें तो उसे न पीने में ही भलाई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार