नहीं बदलेगी नोबेल विजेता चुनने की प्रक्रिया?

हिग्स, इंगलर्ट

रॉयल सोसायटी के अध्यक्ष पॉल नर्स ने कहा है कि नोबेल पुरस्कार विजेता चुनने की प्रक्रिया को नहीं बदला जाना चाहिए, कुछ लोग इस प्रक्रिया में बदलाव चाहते हैं.

पॉल नर्स का कहना है कि ये पुरस्कार चुनिंदा लोगों को मिलना चाहिए न कि टीमों या संगठनों को.

उनकी ये टिप्पणी ऐसे समय आई है जब कुछ लोगों ने मांग की है कि सर्न को भी इस साल का भौतिका का नोबेल पुरस्कार मिलना चाहिए था. लार्ज हैड्रॉन कोलाइडर पर काम कर रहे हज़ारों शोधकर्ताओं ने साल 2012 में मिलकर हिग्स कणों की खोज की थी.

पॉल नर्स ने बीबीसी से कहा, "अक्सर शोध में बड़ी टीमें शामिल होती हैं लेकिन व्यक्तियों को चुनने का जो असर होता है वो समूहों को चुनने पर नहीं होता."

इस महीने की शुरुआत में स्वीडन के राजा ने एक भव्य समारोह में प्रोफ़ेसर पीटर हिग्स और फ़्रांस्वा इंगलर्ट को नोबेल पुरस्कार दिया था. इसके बावजूद कम से कम चार लोग ऐसे थे जिन्होंने मूलभूत कणों के द्रव्यमान को बताने वाले सिद्धांत में अहम योगदान दिया था.

इस सिद्धांत को हिग्स मेकेनिज़्म कहा जाता है.

'रॉक स्टार'

अप्रैल 2013 में इन चार वैज्ञानिकों में से एक प्रोफ़ेसर कार्ल हैगन ने बीबीसी से कहा था कि जब सर्न में हिग्स कणों की खोज का ऐलान हुआ था तो प्रोफ़ेसर पीटर हिग्स के साथ साथी वैज्ञानिकों ने "रॉक स्टार जैसा बर्ताव" किया था जबकि बाकी वैज्ञानिकों के काम "बहुत थोड़ी पहचान मिली."

प्रोफ़ेसर हैगन ने ये टिप्पणी नोबेल विजेताओं के नाम का ऐलान होने से पहले की थी और उन्होंने कहा था कि उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि उन्हें नोबेल मिलता है या नहीं.

कुछ लोगों का कहना है कि नोबेल पुरस्कार देने की प्रक्रिया बदल देनी चाहिए, हालांकि नोबेल फ़ाउंडेशन के नियमों के मुताबिक पुरस्कार तीन से ज़्यादा लोगों को नहीं दिया जा सकता.

विज्ञान नोबेल किसी संगठन को नहीं दिए गए हैं. कुछ लोगों का कहना है कि इस पर भी विचार होना चाहिए क्योंकि कई हज़ार वैज्ञानिकों ने सर्न में हिग्स कणों की खोज पर काम किया था जिसके आधार पर ही पीटर हिग्स और फ़्रांस्वा इंगलर्ट को नोबेल मिला.

अमरीकी विज्ञान ब्लॉगर डॉक्टर ऐश जोगलकैरेरग्स कहते हैं कि नोबेल पुरस्कार कमेटी को सर्न के योगदान को भी मानना चाहिए था.

उन्होंने बीबीसी से कहा, "वक़्त आ गया है कि वो इस मॉडल में बदलाव करें. जब 113 साल पहले नोबेल पुरस्कार की स्थापना हुई थी तब विज्ञान में शोध अलग ढंग से होता था. तब ये वैयक्तिक था, बहुत कम अंतर्राष्ट्रीय सहयोग था और सस्ता था."

हालांकि प्रोफ़ेसर पॉल नर्स, जो खुद नोबेल विजेता हैं, मानते हैं कि "जोगलकैरेरग्स की बात में दम है."

रचनात्मकता को पुरस्कार

हालांकि साल 1997 में नोबेल पुरस्कार पाने वाले जॉन वॉकर कहते हैं कि निजी रचनात्मकता ही वैज्ञानिक खोज को बढ़ावा देती हैं और इससे दूसरों को प्रेरणा मिलती है.

वो कहते हैं, "मैं कैम्ब्रिज में नोबेल पुरस्कार विजेताओं से घिरा हुआ था. फ़्रेड्रिक सैंगर ने मुझे प्रभावित किया. मैंने जब कुछ आइडिया पर उनसे बात की तो उन्होंने कहा कि मैं इन पर काम क्यों नहीं करता और इसने अगले 35 साल के लिए मेरी ज़िंदगी तय कर दी."

ब्रिटेन में सबसे ज़्यादा नोबेल पुरस्कार विजेता कैम्ब्रिज में हैं जहां 50 से भी ज़्यादा विज्ञान नोबेल पुरस्कार विजेता हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार