इनको को भी मालूम है घर बनाने का हुनर

घोंसला

घर बनाने की कला सिर्फ इंसान ही नहीं जानते, बल्कि पक्षियों में भी टिकाऊ घर बनाने में दक्षता होती है.

वैज्ञानिकों का दावा है कि घोंसला बनाने के लिए बेहतरीन सामग्रियों के चयन का हुनर पक्षी भी सीख सकते हैं.

इससे पहले माना जाता था कि घोंसला बनाने के लिए तिनकों के चुनाव की प्रक्रिया पक्षियों के जीन्स से निर्धारित होती है. हर प्रजाति का घोंसला बनाने का तरीका एक खास किस्म का होता है.

लेकिन प्रयोगों से पता चला है कि यह इससे कहीं ज़्यादा जटिल प्रक्रिया होती है.

रॉयल सोसाइटी जर्नल प्रोसीडिंग में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि एक प्रयोग किया गया जिसमें घोंसला बनाने के लिए एक छोटी चिड़िया को मजबूत तिनके दिए गए.

सेंट एंड्र्यूज विश्वविद्यालय से जुड़ी मुख्य शोधकर्ता डॉ. इडला बेली ने बताया, ''हमने पाया कि इस चिड़िया ने मजबूत तिनकों को ही पसंद किया.''

डॉ. बेली और उनके सहयोगी चिड़ियों में सीखने की क्षमता का अध्ययन कर रहे थे.

मकसद

उनका उद्देश्य यह जनाना था कि क्या पक्षियों में गुणवत्ता के आधार पर सामग्रियों को चुनने की क्षमता होती है.

इसे जानने के लिए पक्षियों के एक समूह को तिनके सरीखे तार दिए जबकि दूसरे समूह को थोड़े मजबूत और ज़्यादा सुडौल तिनके दिए.

इसके बाद बारी बारी से दोनों समूह के पक्षियों को दोनों तरह के तिनके चुनने दिया गया.

शोधकर्ताओं को तब ताज्ज़ुब हुआ जब कमजोर तिनकों से घोंसला बना चुकी चिड़ियों ने बेहतरीन किस्म के तिनकों को चुनाव करना पसंद किया.

डॉ. बेली ने बताया, ''पूरी दुनिया में घोंसलों की प्रकृति में बहुत ज़्यादा विविधता है. कुछ तो बहुत आश्चर्यजनक होते हैं, जैसे लटकी हुई टोकरी के समान और चूंकि पक्षियों को इंसानों जैसा चतुर नहीं समझा जाता इसलिए धारणा यह है कि घोंसले का एक खाका उनकी जीन में होता है."

उन्होंने कहा, ''यह प्रयोग दिखाता है कि उनके निर्णय को सीखने की कला बहुत प्रभावित करती है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार