साँप की ये प्रजाति 80 साल बाद फिर मिली

क्लैरियान नाइटस्नेक, साँप की नई प्रजाति इमेज कॉपीरइट Daniel Mulcahy

मैक्सिको में सांप की एक ऐसी प्रजाति मिली है जो तक़रीबन 80 साल तक वैज्ञानिकों की नज़रों से ओझल रही थी. यह जानकारी अमरीका के एक संग्रहालय ने दी है.

क्लैरियान नाइटस्नेक नामक साँपों की इस प्रजाति को मैक्सिको के क्लैरियान द्वीप में देखा गया. इस प्रजाति के साँपों को अमरीका के स्मिथसोनियन इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने देखा है.

इस प्रजाति के साँप को सबसे पहले प्रकृतिवादी विलियम बीबे ने 1936 में खोजा था.

आख़िर क्या है उड़ने वाले सांपों का रहस्य?

हालांकि इस प्रजाति को कभी भी विलुप्त नहीं घोषित किया गया, लेकिन दस्तावेजों में यह लगभग गायब ही हो गई थी क्योंकि वैज्ञानिक दोबारा इसे खोजने में विफल रहे.

संग्रहालय के मुताबिक, शोधकर्ता डेनियल मल्काही मैक्सिको इंस्टीट्यूट के एक विशेषज्ञ के साथ मिलकर क्लैरियान द्वीप पर खोज कार्य कर रहे थे. इस द्वीप पर उनकी टीम ने बीबे के दिए गए हुलिए से मिलते-जुलते 11 साँप देखे.

डीएन जाँच से पुष्टि

डीएनए जाँच से यह बात पुष्ट हुई है कि क्लैरियान नाइटस्नेक मैक्सिको में पाए जाने वाले अन्य साँपों से आनुवांशिक रूप से भिन्न है.

संग्रहालय ने कहा कि साँप की यह प्रजाति इसी द्वीप पर पाई जाती है और अगर यह खोजदल इसे न खोजता तो वैज्ञानिक इनके बारे में कभी नहीं जान पाते. अब इन्हें एक पूर्णतः भिन्न प्रजाति के रूप में मान्यता मिल गई है.

ब्राज़ीलः सबसे ज़हरीले सांप को बचाने वाला डॉक्टर

संग्रहालय की तरफ़ से जारी एक बयान में मल्काही ने कहा, "क्लैरियान नाइट स्नेक की खोज एक अविश्वसनीय खोज की कहानी है. यह कहानी बताती है कि किस तरह शोधकर्ता ऐतिहासिक आंकड़ों और संग्रहालयों के संग्रहों पर भरोसा करते हैं और उसके उपयोग से विश्व की जैव विविधता से जुड़े रहस्यों को हल करते हैं."

उन्होंने कहा, "इस प्रजाति को बचाने की दिशा में पहला क़दम था इसकी ठीक-ठीक पहचान करना. हम इस पर नज़र रखने की योजना बना रहे हैं ताकि क्लैरियान द्वीप के पारिस्थितिकी तंत्र में इसकी भूमिका के बारे में जाना जा सके."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार